अनलॉक 4.0 : कंटेनमेंट जोन को छोड़ राज्य नहीं लगा पाएंगे अपनी मर्जी से लॉकडाउन, केंद्र से लेनी होगी सलाह


केंद्र सरकार को पहले से सूचित किए बिना राज्य और केंद्रशासित प्रदेश की सरकारें अब स्थानीय स्तर पर किसी भी तरह का लॉकडाउन नहीं लगा सकेंगी। हालांकि कंटेनमेंट जोन पर यह लागू नहीं होगा। कोरोना वायरस को रोकने के लिए देशभर में लगे लॉकडाउन को हटाने के मद्देनजर अनलॉक 4 को लेकर केंद्र सरकार द्वारा शनिवार को जारी दिशानिर्देश में यह जानकारी दी गई है।

1 सितंबर से लागू होने जा रहे अनलॉक 4 में खेल, मनोरंजन, धार्मिक, राजनीतिक कार्यक्रम की इजाजत दे दी गई है, तो मेट्रो भी दौड़ने लगेगी।गृह मंत्रालय द्वारा अनलॉक-4 के लिए जारी किए गए दिशानिर्देश के अनुसार, 21 सितंबर से 100 व्यक्तियों की अधिकतम सीमा के साथ सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक कार्यक्रमों की अनुमति दी जाएगी। स्कूल, कॉलेज, अन्य शैक्षणिक संस्थान 30 सितंबर तक बंद रहेंगे। इन कार्यक्रमों में मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन, थर्मल स्कैनिंग, हैंडवॉश और सैनिटाइजर का इस्तेमाल अनिवार्य होगा।

अनलॉक 4.0 गाइडलाइंस की घोषणा, जानिए कब से चलेगी मेट्रो

अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा, गृह मंत्रालय द्वारा मंजूर यात्रा को छोड़कर, स्थगित रहेगी। स्कूल-कॉलेजों को बंद रखा गया है, लेकिन राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों में 50 प्रतिशत तक शिक्षण, गैर-शिक्षण कर्मचारियों को ऑनलाइन शिक्षण, टेली-काउंसलिंग से संबंधित कार्य के लिए स्कूलों में बुलाया जा सकता है। कंटेनमेंट जोन्स से बाहर स्थित स्कूलों में नौवीं कक्षा से 12वीं कक्षा तक के छात्रों को अभिभावक की लिखित सहमति से जाने की अनुमति दी जा सकती है।

अनलॉक-4 के लिए गाइडलाइन जारी, स्कूल, कॉलेज 30 सितंबर तक बंद

कंटेनमेंट जोन में बढ़ा लॉकडाउन
केंद्र सरकार ने कंटेनमेंट जोन्स में लॉकडाउन को 30 सिंतबर 2020 तक बढ़ा दिया है। कंटेनमेंट जोन्स की पहचान पहले की तरह जिला प्रशासन के हवाले है। कंटेनमेंट जोन्स में जरूरी सेवाओं को छोड़कर सख्त प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया गया है।





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply