आरबीआई की नरम मौद्रिक नीति और अमेरिका में नए राहत पैकेज की उम्मीद से रुपए में आ सकती है मजबूती


  • Hindi News
  • Business
  • Rupee Forecast RBI Accommodative Policy And US Stimulus Hopes To Strengthen Rupee

नई दिल्ली12 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अगले सप्ताह डॉलर के मुकाबले रुपया 72.75-73.50 के दायरे में ट्रेड कर सकता है, पिछले सप्ताह यह 73.13 के पुराने स्तर पर बंद हुआ

  • शेयर बाजार में आ रही विदेशी पूंजी और कुछ बड़े कॉरपोरेट सौदों के कारण भी रुपया डॉलर के मुकाबले मजबूत हो सकता है
  • हालांकि अमेरिका में हो रहे राष्ट्रपति चुनाव और भारत का आर्थिक माहौल रुपए को अधिक मजबूत होने से रोक सकते हैं

भारतीय रिजर्व बैंक की नरम मौद्रिक नीति और अमेरिका में राहत पैकेज मिलने की उम्मीद से निकट भविष्य में रुपए में मजबूती आ सकती है। विश्लेषकों के मुताबिक शेयर बाजार में आ रही विदेशी पूंजी और कुछ बड़े कॉरपोरेट सौदों के कारण भी रुपया डॉलर के मुकाबले मजबूत हो सकता है। हालांकि अमेरिका में हो रहे राष्ट्रपति चुनाव और भारत का आर्थिक माहौल रुपए को कमजोर करने का काम कर सकते हैं। गत सप्ताह डॉलर के मुकाबले रुपया 73.13 के पुराने स्तर पर बंद हुआ।

एमके ग्लोबल फाइनेंशियल सर्विसेज में करेंसी सेगमेंट के रिसर्च प्रमुख राहुल गुप्ता ने कहा कि अमेरिका में राहत पैकेज जारी किए जाने की उम्मीद को देखते हुए डॉलर-रुपया स्पॉट 72.75 की तरफ बढ़ सकता है। हालांकि अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव और कई राजनीतिक अनिश्चितताएं रुपए को ज्यादा मजबूत होने से रोकेंगे। इसलिए अगले सप्ताह डॉलर के मुकाबले रुपया 72.75-73.50 के दायरे में ट्रेड कर सकता है।

अगले सप्ताह रुपए को 74 पर रेजिस्टेंस अैर 72.9 पर सपोर्ट का सामना करना पड़ेगा

एचडीएफसी सिक्युरिटीज में रिटेल रिसर्च के डिप्टी हेड देवर्ष वकील ने कहा कि आरबीआई के एग्रेसिव अकोमोडेटिव पॉलिसी से बांड और रुपए में मजबूती आई। डॉलर इंडेक्स में कमजोरी, शेयर बाजार में मजबूती और विदेशी पूंजी निवेश के सम्मिलित असर से रुपए में मजबूती को बल मिला। अमेरिका में राहत पैकेज पर बहस और चुनाव के ओपिनियन पोल से अगले सप्ताह करेंसी को दिशा मिलेगी। अगले सप्ताह रुपए को 74 पर रेजिस्टेंस अैर 72.9 पर सपोर्ट का सामना करना पड़ेगा।

यील्ड कम रखने का आरबीआई का वादा शेयर बाजार, फॉरेक्स और बांड को मजबूत कर सकता है

एडलवाइस सिक्युरिटीज के फॉरेक्स एंड रेट्स प्रमुख सजल गुप्ता ने कहा कि लिक्विडिटी और राहत पैकेज की उम्मीद के साथ रिलायंस रिटेल में पूंजी निवेश करेंसी बाजार के लिए सकारात्मक साबित हो सकता है। यील्ड कम रखने का आरबीआई का वादा भी शेयर बाजार, फॉरेक्स और बांड को मजबूत कर सकता है। अगले सप्ताह तीनों असेट क्लास में मजबूती आ सकती है और रुपया 72 के स्तर की ओर बढ़ सकता है।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply