इस त्योहारी सीजन करना चाहते हैं मनचाही खरीदारी; तो इन 6 आसान तरीकों से कर सकते हैं बड़ी बचत


  • Hindi News
  • Business
  • Ready For Shopping? Here Are 5 Tips To Help You Save Money During Festive Sales 

नई दिल्ली14 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अगर स्मार्ट तरीके से पहले से प्लानिंग करके खर्चे हों तो त्योहारों को सेलिब्रेट भी किया जा सकेगा और खर्चे बजट में भी रहेंगे।

  • अगर स्मार्ट तरीके से पहले से प्लानिंग करके खर्चे हों तो त्योहारों को सेलिब्रेट भी किया जा सकेगा और खर्चे बजट में भी रहेंगे

त्योहार का सीजन शुरू होने वाला है। ऐसे में आप खरीदारी के मूड में भी आ गए होंगे। हालांकि, फेस्टिव सीजन के आते ही त्योहारी खर्चे भी परेशानी करने लगती है। लेकिन ऐसा तभी होता है, जब​ इन खर्चों को अनप्लानड तरीके से किया जाए। अगर स्मार्ट तरीके से पहले से प्लानिंग करके खर्चे हों तो त्योहारों को सेलिब्रेट भी किया जा सकेगा और खर्चे बजट में भी रहेंगे।

आइए जानते हैं त्योहारों पर खर्चे मैनेज करने के ऐसी ही 6 स्मार्ट तरीकों के बारे में-

1. त्योहारी खर्चों के लिए बजट बनाएं

सबसे पहले अपने त्योहारी खर्चों के लिए एक बजट निर्धारित करें। ऐसा न करने पर खर्चे क्षमता से ज्यादा हो जाते हैं। ज्यादातर लोगों को दिवाली पर बोनस मिलता है। इसे अगर सोच-समझकर खर्च किया जाए तो इससे भी वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने में मदद मिल सकती है। त्योहारी खर्चों के लिए बजट बनाते हुए मैक्सिमम लिमिट तय करें। लिस्ट में जरूरी चीजों को रखें और लिस्ट जरूरी क्रम में बनाएं। यानी सबसे जरूरी काम को सबसे पहले रखें। ताकि अगर फंड कम भी पड़े तो सबसे जरूरी चीजें न छूटें। वैसे तो त्योहारों पर खर्चे होते ही हैं लेकिन कोशिश करें कि आप इसमें बचत भी कर सकें।

2. अधिक छूट पाने के चक्कर में ना भटके

कोरोना काल में ऑनलाइन शॉपिंग ज्यादा हो रही है। ई-कॉमर्स कंपनियां एक से बढकर एक डील पेश कर रही हैं। सभी कंपनियां ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए बंपर छूट ऑफर कर रही हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि आप डिस्काउंट के चक्कर में आकर फिजूल के खर्च कर डालें। डिस्काउंट केवल जरूरत की चीजों को सस्ते में खरीदने में फायदेमंद रहता है। लेकिन यही डिस्काउंट कभी-कभी बेकार के खर्चे भी करा देता है।

बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि खरीदारी अपनी जरूरत को देखते हुए करनी चाहिए। कभी भी सिर्फ अधिक छूट पाने के लिए खरीदारी करना घाटे का सौदा होता है। इसलिए, सबसे पहले अपनी जरूरत को समझें और फिर पता करें कि आपको यह वस्तु ऑनलाइन या ऑफलाइन सस्ती मिल सकती है। इस तरह आप अपनी जरूरत को भी पूरा कर पाएंगे और बचत भी।

3. अनावश्यक खरीदारी के चक्कर में ना पड़ें

त्योहारी सीजन में अक्सर हम कई ऐसे चीजों को खरीद लेते हैं जिसकी जरूरत नहीं होती है। इस आदत को आप सामानों की सूची बनाकर खरीदारी कर नियंत्रित कर सकते हैं। किसके लिए क्या खरीदना है, सूची बनाएं और जिसके लिए सामान खरीद लें, उस पर कट का निशान लगाएं। इस तरह आप उन्हीं चीजों की खरीदारी करेंगे जो जरूरत के होंगे। आप फालतू चीजों की खरीदारी से बच जाएंगे।
4. कोशिश करें खरीदारी बजट के अंदर ही हो

त्योहारी सीजन में हमें से ज्यादातर लोग क्रेडिट कार्ड से खरीददारी इस भरोसे कर लेते हैं कि बोनस मिलेगा, उससे क्रेडिट कार्ड का बिल चुका देंगे। यह अच्छी आदत नहीं है। कभी भी भविष्य की कमाई पर खर्च नहीं करनी चाहिए। डाउन पेमेंट पर मुफ्त सहायक उपकरण के बजाय जीरो प्रतिशत ईएमआई जैसे विकल्प का चयन लाभदायक हो सकता है। इससे आपकी वित्तीय स्थिति कमजोर हो सकती है। हमेशा खरीदारी तय बजट के अंदर करना ही सही होता है।

5. इसलिए खरीदारी का सही समय

त्योहारी सीजन में अपनी बिक्री और कारोबार बढ़ाने के लिए तमाम कंपनियां भारी छूट दे रही है। साथ ही वाहन, मोबाइल, होम एप्लाइंसेज बनाने वाली कंपनियों ने नए मॉडल उतारे हैं वहीं उनके फीचर्स में भी इजाफा किया है।इसलिए, इस मौके का सही तरीके से इस्तेमाल कर सामानों की खरीदारी पर अच्छी बचत की जा सकती है।

6. खरीदारी से पहले तुलना करें

खरीदारी करने से पहले एक बार सभी बेवसाइट पर कीमतों की तुलना जरूर कर लें। जब भी आप कुछ भी खरीद रहे हों, तो ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से तुलना करना बेहतर है। कुछ वस्तुओं के लिए आपको ई-कॉमर्स वेबसाइट पर अच्छे डील मिल सकते हैं, जबकि कुछ में आपको स्थानीय दुकानों से भारी छूट मिल सकती है। ऐसी डील के लिए पहले थोड़ा होमवर्क करना जरूरी है।

इसे भी पढ़ सकते हैं-

फायदे वाली शॉपिंग:अमेजन की ग्रेट इंडियन फेस्टिवल सेल 17 तो फ्लिपकार्ट की बिग बिलियन डेज सेल 16 अक्टूबर से; फटाफट जानिए महा सेल में किस प्रोडक्ट्स पर कितनी छूट मिलेगी?



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply