कठिन समय के बावजूद इक्विटी इश्यू के जरिये फंड रेजिंग में आया उछाल, पहली छमाही में 28% बढ़ा


17 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आरबीआई द्वारा अक्टूबर 2020 के लिए जारी की गई मॉनेटरी पॉलिसी रिपोर्ट में कहा गया है कि मार्च में हुई बेतहासा बिक्री के बाद एफपीआई पहली छमाही में भारतीय शेयर बाजार में नेट बायर बन गए

  • अप्रैल-सितंबर छमाही में शेयर के पब्लिक और राइट्स इश्यू के जरिये 76,830 करोड़ रुपए की फंड रेजिंग हुई
  • पिछले साल की समान अवधि में इक्विटी शेयर इश्यू के जरिये 60,133 करोड़ रुपए के फंड जुटाए गए थे

कोरोनावायरस महामारी के कारण देश की अर्थव्यवस्था पटरी से उतर गई, लेकिन इक्विटी इश्यू के जरिये फंड रेजिंग में बढ़ोतरी दर्ज की गई। इस कारोबारी साल की पहली छमाही (अप्रैल-सितंबर) में शेयर के पब्लिक और राइट्स इश्यू के जरिये फंड रेजिंग करीब 28 फीसदी बढ़कर 76,830 करोड़ रुपए के स्तर पर पहुंच गया। पिछले साल की समान अवधि में इक्विटी शेयर इश्यू के जरिये 60,133 करोड़ रुपए के फंड जुटाए गए थे।

अप्रैल-सितंबर छमाही में म्यूचुअल फंड ने 24,801 करोड़ रुपए के शेयरों की शुद्ध बिक्री की

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा अक्टूबर 2020 के लिए जारी की गई मॉनेटरी पॉलिसी रिपोर्ट में कहा गया है कि इक्विटी के पब्लिक और राइट्स इश्यू के जरिये इस कारोबारी साल की पहली छमाही में रिसोर्स मोबिलाइजेशन बढ़कर 76,830 करोड़ रुपए पर पहुंच गया, जो एक साल पहले की समान छमाही में 60,133 करोड़ रुपए पर था। रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि मार्च में हुई बेतहासा बिक्री के बाद विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) पहली छमाही में भारतीय शेयर बाजार में नेट बायर बन गए। अप्रैल-सितंबर छमाही में म्यूचुअल फंड हालांकि नेट सेलर रहे और उन्होंने इस दौरान कुल 24,801 करोड़ रुपए के शेयरों की शुद्ध बिक्री की।

कोरोना संकट के बाद शेयर बाजार में वी शेप रेकवरी

कोरोनावायरस महामारी के कारण पिछले कारोबारी साल की आखिरी तिमाही (जनवरी-मार्च) में भारी गिरावट के बाद भारतीय शेयर बाजार ने इस कारोबारी साल की पहली छमाही (अप्रैल-सितंबर) में वी शेप रिकवरी दिखाई है। 23 मार्च 2020 को दर्ज किए गए 25,981 के निचले स्तर के मुकाबले बीएसई के सेंसेक्स ने अप्रैल-सितंबर में 46.5 फीसदी का उछाल दर्ज किया है। विकसित देशों में जारी किए गए वित्तीय और मौद्रिक राहत पैकेज के बाद दुनियाभर के शेयर बाजारों में तेजी आने और भारत सरकार द्वारा कोरोना संकट से बाहर निकलने के लिए उठाए गए कदमों के कारण शेयर बाजार मजबूती दर्ज की गई।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply