कांग्रेस में विलय पर हाईकोर्ट ने राजस्थान स्पीकर और 6 बीएसपी विधायकों को भेजा नोटिस


बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर राजस्थान विधानसभा चुनाव जीतने वाले 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय पर राजस्थान हाईकोर्ट ने स्पीकर और इन विधायकों को नोटिस जारी किया है। राजस्थान की सत्ताधारी पार्टी में अपने विधायकों के विलय के खिलाफ कोर्ट पहुंची बीएसपी की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने नोटिस जारी किया है। कोर्ट ने विधानसभा स्पीकर के साथ ही विधानसभा सचिव को भी नोटिस जारी कर इन सभी से 11 अगस्त तक जवाब देने को कहा है।

साल 2018 के विधानसभा चुनाव में बीएसपी टिकट पर संदीप यादव, वाजिब अली, दीपचंद खेरिया, लखन मीणा, जोगेन्द्र अवाना और राजेन्द्र गुढ़ा ने जीत दर्ज की थी। लेकिन, अगले साल यानी 2019 के सितंबर में ये सभी बीएसपी विधायक कांग्रेस में शामिल हो गए थे।

ये भी पढ़ें: कांग्रेस में शामिल 6 विधायकों के खिलाफ BSP ने किया राजस्थान HC का रुख

बीजेपी विधायक मदन दिलावर ने स्पीकर से शिकायत करते हुए कहा कि यह दल-बदल विरोधी कानून का उलंलघन है। 200 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत के लिए संघर्ष कर रहे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के लिए इस वर्तमान राजनीतिक संकट के बीच स्पीकर सीपी जोशी ने बीएसपी विधायकों के विलय की शिकायत को खारिज कर दिया।

उसके बाद दिलावर हाल में राजस्थान हाईकोर्ट का रुख किया था। दिलावर ने इस महीने की शुरुआत में हाईकोर्ट में याचिका दायर करते हुए बीएसपी के छह विधायकों के कांग्रेस में विलय को खारिज करने की मांगी की थी। इसके साथ ही, चुनौती देते हुए कहा गया बीएसपी विधायकों के कांग्रेस में शामिल होने पर विधानसभा स्पीकर की तरफ से उन विधायकों के विधानसभा की सदस्यता से अयोग्य करार करने पर ‘कार्रवाई’ नहीं की गई।

हालांकि, मदन दिलावर की याचिका को राजस्थान हाईकोर्ट ने भी खारिज कर दिया था। जिसके बाद बीएसपी ने भी कांग्रेस में अपने विधायकों के विलय के खिलाफ दायिका दायर की।

ये भी पढ़ें: राजस्थान सियासी संघर्ष में अशोक गहलोत को मिली राहत, बीजेपी को लगा झटका





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply