कोरोना मरीजों की संख्या 10 हजार के पार, अनलॉक होते ही मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग भूले लोग, हालत चिंताजनक हुए


  • पूरे प्रदेश में बाजार खुलते ही जिस तरह से भीड़ उमड़ रही है, उससे संक्रमण का खतरा और ज्यादा बढ़ गया है
  • 9 जून से शुरू हुई 12वीं की परीक्षा में पहले दिन सोशल डिस्टेंसिंग देखने को मिली थी, लेकिन दूसरे पेपर में नियमों का पालन नहीं

दैनिक भास्कर

Jun 11, 2020, 11:09 AM IST

भोपाल. प्रदेश में अनलॉक- 1 में ढील दिए जाने के बाद सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने के दुष्परिणाम सामने आने लगे हैं। प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 10 हजार को पार (10049) कर गई है। इंदौर में 3922 मरीज हो गए हैं। भोपाल में आंकड़ा 2131 पर पहुंच गया है। राज्य में अब तक 427 मरीजों की मौत हो चुकी है। प्रदेश के जिलों में जिस तरह से संक्रमण फैल रहा है उससे हालत चिंताजनक होते जा रहे हैं। पूरे प्रदेश में बाजार खुलते ही भीड़ देखने को मिल रही है, इससे संक्रमण का खतरा और ज्यादा बढ़ गया है। यहां लोग बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के घूम रहे हैं। सरकार द्वारा मास्क नहीं पहनने पर जुर्माने वसलूने के आदेश दिए गए हैं, लेकिन ये शहरों तक सीमित है।

9 जून से शुरू हुई 12वीं की परीक्षा में पहले दिन तो सोशल डिस्टेंसिंग देखने को मिली थी लेकिन दूसरे पेपर में परीक्षा केंद्रों पर नियमों का पालन कराने वाले शिक्षक गायब थे। कई केंद्रों से ऐसी तस्वीरे सामने आई हैं, जहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं किया गया। परीक्षा खत्म होने के बाद छात्र भीड़ के रूप में स्कूलों से बाहर निकले। 

रायसेन में परीक्षा खत्म होने के बाद केंद्र से निकले छात्र सोशल डिस्टेंसिंग भूल गए।

भोपाल में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 2131

राजधानी में अनलॉक-1 के 10वें दिन 78 नए कोरोना पॉजिटिव मिले। यह एक दिन में सबसे ज्यादा केस मिलने की संख्या है। इससे पहले 8 जून को 60 केस मिले थे। भोपाल में पहला केस  22 मार्च को मिला था। नए संक्रमितों में 108 इमर्जेंसी कॉल सेंटर के 12 और कर्मचारी शामिल हैं। यहां अब तक 20 संक्रमित मिल चुके हैं। इसके अलावा, कुछ दिन शांत रहने के बाद जहांगीराबाद में फिर से 23 नए मरीज मिले। ये सभी एक ही समुदाय के हैं जो कंधे पर रखकर चादर बेचने का काम करते हैं। यहां अब कुल 401 मरीज हैं, जबकि शहर में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 2131 हो गया है। 

कोरोना मरीजों की संख्या 10 हजार के पार, अनलॉक होते ही मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग भूले लोग, हालत चिंताजनक हुए
भोपाल में एमवीएम कॉलेज में क्वारैंटाइन सेंटर बनाया गया है। यहां अस्थाई टॉयलेट को लेकर सवाल उठ रहे हैं। पॉलीथिन की पतली शीट से बने इन टॉयलेट में न कोई दरवाजा है और न छत। टॉयलेट ऊपर से भी खुले हैं। सेंटर में महिलाओं को भी रखा जाना है। फोटो- अनिल दीक्षित

इंदौर: पानी पाउच के साथ सैंपल जा रहे, टॉयलेट वॉटर से सैनिटाइजेशन

इंदौर में रोज कोरोना 50 से 70 नए मरीज मिल रहे हैं। औसतन दो लोग जान गंवा रहे हैं। इसके बावजूद इससे निपटने के लिए जुगाड़ की व्यवस्था चलाई जा रही है। स्वास्थ्य विभाग ने सैंपल कलेक्शन के लिए जैल वाले आइस पैक की खरीदी ही नहीं की। वैक्सीनेशन के लिए मिले आइस पैक से ढाई महीने तक काम चलाया। स्टॉक में जितना था, उतना उपयोग करने के बाद स्वास्थ्य केंद्रों से मंगवाने लगे। अब कमी हुई तो पानी के पाउच जमाकर कोल्ड चेन मेंटेन करने का दावा किया जा रहा है। दूसरी लापरवाही कोरोना के पॉजिटिव और संदिग्ध मरीजों काे अस्पतालों तक पहुंचाने वाली 108 एम्बुलेंस को लेकर सामने आई है। हाल ही में अमेरिका से लौटे लोगों को लेने के लिए एम्बुलेंस एयरपोर्ट पर पहुंची तो उन्होंने एम्बुलेंस में धूल और गंदगी पर आपत्ति की गई। तब पता चला कि एम्बुलेंस को हाइपोक्लोराइट के बजाय शौचालय के पानी से धोया जाता है। स्वास्थ्य विभाग और एनएचएम का कहना है एम्बुलेंस का संचालन करने वाली जिगित्सा हेल्थकेयर कंपनी पर कार्रवाई की जाएगी।

कोरोना मरीजों की संख्या 10 हजार के पार, अनलॉक होते ही मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग भूले लोग, हालत चिंताजनक हुए
सीहोर में स्वास्थ्य विभाग की टीम संदिग्ध मरीजों के सैंपल लेने घर-घर जा रही है।

भोपाल: कोरोना के शक में भाई को ही घर से निकाल दिया
कोरोना की मार से रिश्ते की डोर भी टूट रही है। ऐसा ही एक मामला बुधवार को सामने आया। अपने भाई-भाभी के साथ बरखेड़ा पठानी में रहने वाले 49 वर्षीय अविवाहित व्यक्ति को परिवार वालों ने कोरोना होने के संदेह में घर से निकाल दिया। यहां-वहां भटकने के बाद शाम को हबीबगंज स्टेशन पहुंचा और आगरा जाने की टिकट ले ली। प्लेटफाॅर्म पर एंट्री के वक्त मेडिकल टीम ने उसकी हालत देखकर रोक लिया। उसे खांसी-बुखार था। पूछताछ में उसने अपना नाम ओमकार बताया। कहा- उसकी एक दिन पहले ही सैंपलिंग हुई है, लेकिन रिपोर्ट आने से पहले ही वह भोपाल से बाहर जा रहा था। ओमकार ने बताया कि उसे काफी दिन से खांसी और बुखार था। मंगलवार को घर वालों ने बाहर निकाल दिया। जबकि घर में ऊपर रहने की पर्याप्त व्यवस्था थी। करीब डेढ़ घंटे बाद एंबुलेंस से उसे हमीदिया अस्पताल भेजा गया।

कोरोना मरीजों की संख्या 10 हजार के पार, अनलॉक होते ही मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग भूले लोग, हालत चिंताजनक हुए
अशोकनगर में कोरोना संक्रमित का नया मामला सामने आने के बाद गली को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर दिया गया है।

जबलपुर: 78 फीसदी से ज्यादा कोरोना मरीज स्वस्थ हुए

कोरोना से स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 78 प्रतिशत से ज्यादा है। बुधवार को डिस्चार्ज होने वालों में एक व्यक्ति तहसील शहपुरा के रामपुर गांव का है। दो व्यक्ति बरगी के पास डोंडा गांव के रहने वाले हैं। कोरोना से स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 222 हो गई। अब तक कुल 283 संक्रमित मिले। मृतकों की संख्या 11 है। एक्टिव मरीजों की संख्या 50 है।

कोरोना मरीजों की संख्या 10 हजार के पार, अनलॉक होते ही मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग भूले लोग, हालत चिंताजनक हुए
ये तस्वीर गुना की है। एक बाइक से जाते पांच लोग सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का माखौल उड़ा रहे हैं।

कोरोना अपडेट्स  

  • भिंड: जिले में कोरोना के 4 नए केस मिले। इसके साथ यहां संक्रमितों की संख्या 110 हो गई। इनमें से 54 ठीक होकर घर भेजे गए। 56 एक्टिव केस हैं।
  • कटनी: जिले में एक नया केस मिला। मरीज को 8 जून को सर्दी खांसी-बुखार के बाद भर्ती किया गया था। अब उसकी कॉन्ट्रेक्ट हिस्ट्री तलाशी जा रही है। जिले में संक्रमितों की संख्या 4 हो गई।
  • देवास: जिले में एक कोरोना संक्रमित श्रमिक की मौत हो गई। उसके मरने के बाद पॉजिटिव रिपोर्ट आई। यह व्यक्ति कुंडाली कलां परासिया विकासखंड का रहने वाला है। 5 दिन पहले आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हुआ था।
कोरोना मरीजों की संख्या 10 हजार के पार, अनलॉक होते ही मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग भूले लोग, हालत चिंताजनक हुए
तस्वीर रायसेन जिले की सिलवानी तहसील की है। यहां संक्रमित मरीज मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम सर्वे और सैंपलिंग कर रही है। 

राज्य में 10049 संक्रमित : इंदौर 3881, भोपाल 1927, उज्जैन 745, बुरहानपुर 377, नीमच 353, जबलपुर 283, खंडवा 271, सागर 242, ग्वालियर 228, खरगोन 209, देवास 145, मुरैना 133, धार 129, भिंड 106, मंदसौर 95, रतलाम 85, रायसेन 76, बड़वानी 62, श्योपुर 53, छतरपुर 41, शाजापुर 38, होशंगाबाद और विदिशा 37-37, रीवा 38, राजगढ़ 37, बैतूल 36, अशोकनगर 32, छिंदवाड़ा 29, डिंडोरी 29, दमोह 27, अनूपपुर 24, सतना 22, पन्ना 21, दतिया 20, नरसिंहपुर 18, शिवपुरी और सीधी 17-17 टीकमगढ़ में 16, आगरमालवा 15, झाबुआ और शहडोल में 13-13, सिंगरौली 12, सीहोर-बालाघाट में 11-11, उमरिया 10, गुना 9, मंडला 5, अलीराजपुर, हरदा और कटनी 3-3 और सिवनी में दो मरीज संक्रमित हैं।

427 की मौत: इंदौर 161, भोपाल 66, उज्जैन 64, बुरहानपुर 19, खंडवा 17, खरगोन 13, सागर 13, जबलपुर 11, देवास और मंदसौर में 9-9, नीमच 5, धार और रतलाम में 4-4, रायसेन, राजगढ़्र, शाजापुर और होशंगाबाद में 3-3, ग्वालियर, सतना, सीहोर, बड़वानी और श्योपुर में 2-2, मुरैना, आगरमालवा, झाबुआ, अशोकनगर, छिंदवाड़ा, टीकमगढ़, दतिया, उमरिया और मंडला में एक-एक मरीज की मौत हुई। ( आंकड़े स्वास्थ्य विभाग द्वारा 10 जून को रात 9 बजे जारी बुलेटिन के अनुसार)



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply