चीन-भारत सीमा गतिरोध पर बीजेपी ने कहा, यह 1962 का भारत नहीं है


भारतीय जनता पार्टी ने भारत चीन सीमा पर गतिरोध से निपटने को लेकर विपक्ष की आलोचना पर बुधवार को कहा कि आज का भारत 1962 का भारत नहीं है और देश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे साहसी नेता के नेतृत्व में आगे बढ़ रहा है, कांग्रेस के नेतृत्व में नहीं।

बीजेपी नेता एवं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सीमा पर स्थिति को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा सवाल उठाए जाने पर पलटवार करते हुए कहा कि उन्हें कम से कम इतनी समझ होनी चाहिए कि चीन से जुड़े सामरिक मुद्दों के बारे में ट्विटर पर सवाल नहीं पूछे जाते।

हिमाचल प्रदेश में भाजपा की डिजिटल रैली को संबोधित करते हुए प्रसाद ने कहा कि जब भारत आत्मनिर्भर बनने की दिशा में काम कर रहा है, वह सुरक्षा मामलों में भी इस दिशा में आगे बढेगा। उन्होंने सुरक्षा के मामलों में मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में पाकिस्तान के भीतर सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक के जरिये आतंकवादियों को निशाना बनाने का भी जिक्र किया।

ये भी पढ़ें: फिर होगा पाकिस्तान में तख्तापलट? इमरान सरकार में सेना की घुसपैठ

रविशंकर ने कहा, ”भारत शांतिपूर्ण ढंग से विवादों को सुलझाना चाहता है। हम विनम्रता के साथ एक बात कहना चाहते हैं कि आज का भारत 2020 का भारत है, 1962 का भारत नहीं है। आज के भारत का नेतृत्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे साहसी नेता कर रहे हैं, कांग्रेस के नेता नहीं।”

केंद्रीय मंत्री ने सीमा पर गतिरोध का सीधा उल्लेख किए बिना कहा, ”इस बात को समझ लेना चाहिए। चीन ने जब 1962 में भारत को हराया तब कांग्रेस शासन में थी।” राहुल गांधी पर तंज करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता की देश की आर्थिक नीति या सामरिक मामलों के बारे में कितनी समझ है, यह चर्चा करने की बात है ।

ये भी पढ़ें: सैनिकों की वापसी पर बोला चीन- भारत के साथ बनी सहमति, सीमा पर स्थिति सामान्य बनाने को कदम उठा रहे दोनों देश





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply