चीन से टकराव के बीच CDS बोले- पाकिस्तान भी कर सकता है दुस्साहस, उठाएगा भारी नुकसान


चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने चीन के साथ तनाव के बीच कहा है कि भारतीय सशस्त्र बलों को फौरी संकट से निपटने के लिए तैयार रहना चाहिए और साथ ही भविष्य के लिए भी तैयारी करनी चाहिए। चीन के साथ पाकिस्तान के भी मोर्चा खोलने की संभावना जताते हुए रावत ने कहा कि भारत को उत्तरी और पश्चिमी मोर्चों पर एक साथ कार्रवाई का खतरा है। उन्होंने दोनों पड़ोसियों से साथ निपटने की भारतीय सेना की क्षमता का जिक्र करते हुए कहा कि यदि पाकिस्तान ने मौके का फायदा उठाकर दुस्साहस करने की कोशिश की तो उसे भारी कीमत चुकानी होगी। 

यूएस-इंडिया स्ट्रैटिजिक पार्टनरशिप फोरम के एक कार्यक्रम में रावत ने कहा कि हमने उत्तरी और पश्चिमी सीमाओं पर उभरते खतरों से निपटने की रणनीति तैयार कर ली है। चीन की पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को आर्थिक, सैन्य और कूटनीतिक सहायता जारी रखने के कारण हमारे लिए उच्च स्तर की तैयारी रखना आवश्यक हो गया है। उन्होंने कहा कि भारत चीन की आक्रामक हरकतों को देखता आ रहा है, पर हम इनसे समुचित ढंग से निपटने में सक्षम है। सीडीएस ने यहां तक कहा कि भारत परमाणु से लेकर अर्द्ध-परंपरागत तक सर्वाधिक जटिल खतरों और चुनौतियों का सामना कर रहा है। 

पाकिस्तान को लेकर सीडीएस रावत ने कहा कि वह छद्म युद्ध छेड़ रहा है, जम्मू-कश्मीर में परेशानी पैदा करने के लिए अपनी जमीन से आतंकवादियों की मदद कर रहा है और उन्हें सामान दे रहा है। पाकिस्तान उत्तरी सीमाओं पर पैदा होने वाले किसी भी खतरे का फायदा उठा सकता है और हमारे लिए समस्या खड़ी कर सकता है। जनरल रावत ने कहा कि पाकिस्तान अगर भारत के खिलाफ कोई दुस्साहस करने की कोशिश करता है तो भारी नुकसान उठाएगा, हमने इससे निपटने के लिए पर्याप्त सावधानियां बरती हैं।

सीडीएस ने ये बातें ऐसे समय में कही हैं जब लद्दाख में भारत और चीन की सेनाओं के बीच तनाव चरम पर है। चीन की ओर से घुसपैठ की ताजा कोशिशों के बीच भारतीय सेना पूरी तरह मुस्तैद है और लगातार दो दिन चीन के मंसूबे को नाकाम करते हुए पैंगोंग त्सो झील के दक्षिणी किनारे पर ऊंचाई वाले इलाकों को नियंत्रण में ले लिया है। दोनों ही सेनाएं टैंक और भारी हथियारों के साथ आमने-सामने हैं। हालांकि, दोनों देशों में सैन्य स्तर पर बातचीत भी हुई है, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकल पाया है।





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply