चीन से तनाव के बीच लेह का दौरा करेंगे सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवणे, LAC के जमीनी हालात की लेंगे जानकारी


चीन से तनाव के बीच सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे लेह की स्थिति का जायजा लेने के लिए आज वहां का दौरा करेंगे। सेना के सूत्र ने बताया है कि वरिष्ठ फील्ड कमांडर उन्हें वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के जमीनी हालात की जानकारी देंगे। सेना के सूत्र का कहना है कि सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे अपने इस दो दिवसीय दौरे के दौरान सैनिकों की ऑपरेशनल तैयारियों का भी मुआयना करेंगे। 

आपको बता दें कि पैंगोंग लेक के दक्षिणी हिस्से को चीनी सेना से खाली कराने के बाद अब उत्तरी इलाके में भी चीनी सेना की घेराबंदी शुरू कर दी गई है। सेना के सूत्रों ने कहा कि एलएसी के भारतीय क्षेत्र में ऊंची पहाड़ियों पर सेना की विशेष टुकड़ियों को तैनात किया गया है। जो किसी भी हालात का मुकाबला करने के लिए तैयार हैं। 

 

चीन की घुसपैठ की कोशिश के बाद भारतीय सेना ने LAC पर बदली पोजिशन

सेना के सूत्रों ने बुधवार को बताया कि चीनी सेना की फिंगर-4 से फिंगर-8 के इलाकों में तैनाती कायम रहने और दक्षिणी हिस्से में घुसपैठ की नाकाम कोशिश के बाद यह सुरक्षात्मक कदम उठाया गया है। पैंगोंग लेक के उत्तरी हिस्सों में ऊंची पहाड़ियों पर भारतीय सैनिकों की तैनाती की गई है। लेकिन भारतीय सैनिक जिस क्षेत्र में है, वह पूरी तरह से भारतीय क्षेत्र में है, लेकिन वहां से पैंगोंग लेक के उत्तरी इलाके पर भारत को रणनीति बढ़त मिलती है।

ब्रिगेड कमांडर स्तर की वार्ता तीसरे दिन भी जारी 
दोनों देशों की सेनाओं के बीच ब्रिगेडियर स्तर की वार्ता तीसरे दिन भी जारी रही। सूत्रों का कहना है कि वार्ता में लगातार टकराव की बना हुआ है। सूत्रों ने बताया कि दोनों देश की सेना ने चुशुल में ब्रिगेड कमांडर स्तर की वार्ता की है, जिसमें मुख्य रूप से पैंगोंग झील इलाके में तनाव घटाने पर ध्यान केंद्रित किया गया। सूत्रों ने यह भी बताया कि सोमवार और मंगलवार को छह घंटे से अधिक समय तक इसी तरह की वार्ता हुई, लेकिन कोई ठोस नतीजा नहीं निकला। उन्होंने बताया कि भारत ने पूर्वी लद्दाख में सामरिक रूप से महत्वपूर्ण कई पर्वत चोटियों और स्थानों पर कब्जा कर पिछले कुछ दिनों में रणनीतिक बढ़त हासिल की है।

 





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply