जॉनसन एंड जॉनसन ने वैक्सीन ट्रायल रोका, हेल्थ वर्कर के बीमार होने के बाद फैसला; दुनिया में 3.80 करोड़ केस


  • Hindi News
  • International
  • Coronavirus Novel Corona Covid 19 13 Oct | Coronavirus Novel Corona Covid 19 News World Cases Novel Corona Covid 19

वॉशिंगटन3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन ने कोरोना वैक्सीन का ट्रायल फिलहाल रोक दिया है। कंपनी ने यह फैसला अपने एक हेल्थ वर्कर के बीमार होने के बाद किया। (प्रतीकात्मक फोटो)

  • दुनिया में 10.85 लाख से ज्यादा लोगों की मौत, 2.85 करोड़ से ज्यादा लोग अब स्वस्थ
  • अमेरिका में 80.37 लाख लोग संक्रमित, 2.20 लाख से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं

दुनिया में संक्रमितों का आंकड़ा 3.80 करोड़ से ज्यादा हो गया है। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 2 करोड़ 85 लाख 92 हजार 312 से ज्यादा हो चुकी है। मरने वालों का आंकड़ा 10.85 लाख के पार हो चुका है। ये आंकड़े www.worldometers.info/coronavirus के मुताबिक हैं। अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन ने कोरोना वैक्सीन का ट्रायल फिलहाल रोक दिया है। कंपनी ने यह फैसला अपने एक हेल्थ वर्कर के बीमार होने के बाद किया। इसके पहले ऑक्सफोर्ड एस्ट्राजेनेका ने भी पिछले महीने इन्हीं हालात में ट्रायल रोक दिया था। हालांकि, स्थिति की समीक्षा के बाद इन्हें फिर शुरू कर दिया गया है।

जॉनसन एंड जॉनसन के हवाले से कहा गया है कि ट्रायल में हिस्सा ले रहे एक व्यक्ति में बीमारी के कुछ लक्षण देखे गए हैं। कंपनी ने कहा- फिलहाल हम सभी तरह के ट्रायल रोक रहे हैं। इसमें फेस 3 ट्रायल भी शामिल हैं। ट्रायल में हिस्सा ले रहे एक कैंडिडेट में बीमारी के लक्षण पाए गए हैं। हम इसकी जांच कर रहे हैं।

फ्रांस : लॉकडाउन की तैयारी
फ्रांस ने लॉकडाउन की नए सिरे से तैयारी करना शुरू कर दिया है। तीन हफ्ते में यहां तीन लाख से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। अब सरकार ने साफ कर दिया है कि बिना सख्ती किए संक्रमण को रोकना बेहद मुश्किल है। हेल्थ मिनिस्ट्री ने कहा कि सभी तरह के होटल, रेस्टोरेंट्स और बार अब बंद किए जाएंगे। इस मामले में किसी तरह की राहत नहीं दी जाएगी। सरकार डब्ल्यूएचओ के भी संपर्क में है ताकि एक्सपर्ट्स की सलाह ली जा सकती।

फ्रांस सरकार ने साफ कर दिया है कि देश में जल्द ही नए सिरे से लॉकडाउन लगाया जाएगा। सरकार के मुताबिक, इस दौरान सभी तरह के होटल, रेस्टोरेंट्स और बार बंद रखे जाएंगे। फ्रांस में जून से लेकर अगस्त तक लॉकडाउन रहा था। (फाइल)

फ्रांस सरकार ने साफ कर दिया है कि देश में जल्द ही नए सिरे से लॉकडाउन लगाया जाएगा। सरकार के मुताबिक, इस दौरान सभी तरह के होटल, रेस्टोरेंट्स और बार बंद रखे जाएंगे। फ्रांस में जून से लेकर अगस्त तक लॉकडाउन रहा था। (फाइल)

इटली : फिर सख्ती होगी
इटली सरकार ने भी साफ कर दिया है कि बहुत जल्द प्राइवेट पार्टीज में आने वाले लोगों को लेकर नए प्रतिबंध लगाए जाएंगे। पार्टी में आने वाले हर शख्स का रिकॉर्ड रखना होगा। शादियों और अंतिम संस्कार के लिए भी नए प्रतिबंधों की तैयारी कर ली गई है। इटली की हेल्थ मिनिस्ट्री ने कहा- हमने बहुत मुश्किल दौर देखा है। इसलिए ये जरूरी है कि सही वक्त पर सही कदम उठाए जाएं। इससे कुछ देर के नुकसान या परेशानी हो सकती है, लेकिन आखिर में हम सबको सुरक्षित रखने में कामयाब होंगे।

इटली के वेटिकन सिटी में मौजूद गार्ड्स को भी मास्क पहनने को कहा गया है। यहां पोप फ्रांसिस रहते हैं। इटली में संक्रमण की दूसरी लहर को देखते हुए नए प्रतिबंध लगाए जाने की तैयारी है।

इटली के वेटिकन सिटी में मौजूद गार्ड्स को भी मास्क पहनने को कहा गया है। यहां पोप फ्रांसिस रहते हैं। इटली में संक्रमण की दूसरी लहर को देखते हुए नए प्रतिबंध लगाए जाने की तैयारी है।

ब्रिटेन : तीन चरणों की नई योजना
बोरिस जॉनसन सरकार ने देश में संक्रमण की दूसरी लहर से निपटने के लिए नई योजना तैयार की है। इसके लिए तीन लेयर वाला एक प्लान तैयार किया गया है। इसे मीडियम, हाई और वेरी हाई कैटेगरी में बांटा गया है। सरकार के सूत्रों का कहना है कि वो सख्त या कम्प्लीट लॉकडाउन से बचना चाहती है। लिहाजा, संक्रमण को काबू में करने के लिए नया प्लान बनाया गया है। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने पहली बार विपक्षी सांसदों को भी इस प्लान की जानकारी दी है। विपक्षी सांसदों का आरोप है कि सरकार कोरोना के बहाने जनता के अधिकारों का हनन कर रही है।

साउथ कोरिया: यहां राहत
साउथ कोरिया में संक्रमण के मामले कम होने के बाद सोमवार से सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों में राहत दी गई है। यहां नाइटक्लब, बार और रेस्टोरेंट दोबारा खोलने की इजाजत दे दी गई है। स्टेडियम की कैपेसिटी से 30% दर्शकों के साथ खेल आयोजनों की इजाजत होगी। प्रधानमंत्री चुंग से-क्यून ने रविवार को इसका ऐलान किया। उन्होंने कहा कि हम देश भर में सोशल डिस्टेंसिंग में राहत देंगे, लेकिन, खतरे को नजरअंदाज नहीं करेंगे। डोर टू डोर बिजनेस, धार्मिक आयोजनों पर पाबंदियां जारी रहेंगी।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply