डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, फिर से चुनाव जीता तो अमेरिका चांद पर भेजेगा पहली महिला


राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि अगर वे फिर चुनाव में जीत हासिल करते हैं, तो अमेरिका चांद पर पहली महिला को लेकर जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने अंतरिक्ष में नए युग के शुरुआत की बात भी कही। रिपब्लिकन पार्टी से फिर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने के लिए ‘रिपब्लिकन नेशनल कन्वेंशन’ (आरएनसी) में अपने स्वीकृति भाषण में ट्रंप ने चंद्रमा पर प्रथम महिला को भेजे जाने की भी जानकारी दी और फिर से चुने जाने पर अंतरिक्ष में अमेरिकी आकांक्षाओं के नये युग की शुरुआत करने का भी वादा किया। ट्रंप ने कहा कि अगर वह फिर से राष्ट्रपति बनते हैं तो अमेरिका 5जी की दौड़ को जीतेगा और विश्व का सर्वश्रेष्ठ साइबर एवं मिसाइल रक्षा प्रणाली बनाएगा।

ट्रंप ने कहा है कि अमेरिका ने किसी भी अन्य देश के मुकाबले सबसे ज्यादा कोविड-19 जांचें की हैं और भारत उसके बाद दूसरे नंबर पर है। उन्होंने बताया कि अमेरिका ने कोविड-19 की जांच करने के लिहाज से दूसरे नंबर पर मौजूद भारत से चार करोड़ ज्यादा जांच की है। उन्होंने बृहस्पितवार रात को कहा, “हमने कॉन्वलेसेंट प्लाज्मा के तौर पर जानी जाने वाली शक्तिशाली एंटीबॉडी उपचार समेत कई प्रकार के प्रभावी उपचारों को विकसित किया है।”

अगर जो बाइडेन राष्ट्रपति चुनाव जीते, तो अमेरिका खतरे में आ जाएगा: ट्रंप

ट्रंप ने कहा, “आपने यह देखा होगा जब रविवार रात हमने घोषणा की थी कि हम हजारों-हजार जीवन को बचाएंगे। चिकित्सीय प्रगति की बदौलत हमने मृत्यु दर को कम कर लिया है। और अगर आप संख्याओं को देखेंगे तो पाएंगे कि अप्रैल के बाद से यह 80 प्रतिशत तक घट गई है।” ट्रंप ने व्हाइट हाउस के साउथ लॉन में मौजूद करीब 1,000 समर्थकों के समूह को यह भाषण दिया। उन्होंने कहा कि अमेरिका में विश्व के किसी अन्य देश की तुलना में मृत्यु दर सबसे कम है। 

राष्ट्रपति ने कहा, “यूरोपीय संघ की मृत्यु दर हमसे तीन गुणा अधिक है लेकिन आपको यह सुनने को नहीं मिलेगा। वे इसके बारे में नहीं लिखते हैं। वे लिखना नहीं चाहते हैं। वे नहीं चाहते कि आप चीजों को समझें।” ट्रंप ने कहा, “सब मिलाकर, यूरोप के राष्ट्रों में अमेरिका की तुलना में 30 प्रतिशत अधिक मामले हैं और अधिक मृत्यु दर है।” डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन की आलोचना करते हुए ट्रंप ने कहा कि पूर्व उपराष्ट्रपति के उलट, उनका प्रशासन कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से निपटने के लिए “विज्ञान, तथ्यों एवं डेटा” पर ध्यान देता है।” उन्होंने इस वैश्विक महामारी के लिए चीन को जिम्मेदार बताया। साथ ही नर्सों एवं प्रथम प्रतिक्रिया देने वालों का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा, “अगर हमने बाइडेन की बात सुनी होती तो लाखों और अमेरिकी मारे गए होते।”





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply