तमिलनाडु में कोरोना रिकवरी दर 85% के पार, एक दिन में 6000 से अधिक नए मरीज


तमिलनाडु में कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है और पिछले 24 घंटों के दौरान 6352 नए मामले सामने आने से संक्रमितों की संख्या शनिवार को बढ़कर 4.09 लाख के पार पहुंच गई, लेकिन राहत की बात यह है कि मरीजों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर 85 फीसदी से ऊपर हो गई है। इस दौरान 6045 मरीजों के स्वस्थ होने से संक्रमण मुक्त लोगों की संख्या बढ़कर साढ़े तीन लाख के पार पहुंच गई।

राज्य में कई दिनों के बाद 6,000 से अधिक नए मामले सामने आए हैं, हालांकि पिछले कई दिनों से हर दिन करीब 5,000 मामले आ रहे थे। राज्य में अब तक 44,99,670 लोगों की आरटी-पीसीआर जांच की जा चुकी है। शनिवार को 78,973 जांच हुईं।

तमिलनाडु में दूसरे राज्यों और विदेशों से लौटे लोगों सहित 6,352 लोगों को संक्रमित पाया गया है, जिससे संक्रमण के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 4,15,590 हो गई है। राज्य में इसी अवधि में 87 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 7137 हो गई है। इस दौरान स्वस्थ हुए लोगों की संख्या बढ़कर 3,55,727 हो गई है। इसके साथ ही मरीजों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर 85.59 प्रतिशत पहुंच गई।

चिंता की बात यह है कि राज्य में शनिवार को सक्रिय मामलों की संख्या में 220 की वृद्धि दर्ज की गई। इसके साथ ही सक्रिय मामलों की संख्या बढ़ कर 52,726 हो गई जो शुक्रवार को 52,506 थी। गौरतलब है कि संक्रमण और मौत के मामलों में तमिलनाडु महाराष्ट्र के बाद दूसरे स्थान पर है।

तमिलनाडु में कोविड-19 के मरीजों के ठीक होने की दर देश में सर्वाधिक
तमिलनाडु में कोविड-19 के 3,55,727 मरीज ठीक हो चुके हैं और इसके साथ ही इस महामारी के मरीजों के स्वस्थ होने की दर 85.45 प्रतिशत हो गई है जो देश में सर्वाधिक है। मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने यहां शनिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राज्य में कोविड-19 से होने वाली मृत्यु दर 1.7 प्रतिशत रह गई है जो कि “अत्यंत कम” है। वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से जिला कलेक्टरों के साथ शनिवार को हुई बैठक में पलानीस्वामी ने कहा कि उनकी सरकार ने महामारी को फैलने से रोकने, मरीजों के उपचार और राहत कार्यों पर अब तक 7,162 करोड़ रुपए खर्च किए हैं।





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply