तालिबान को लुभाने की कोशिश: PAK विदेश मंत्री और ISI चीफ काबुल पहुंचे, अफगानिस्तान को 500 करोड़ रुपए की सहायता का ऐलान


  • Hindi News
  • International
  • Pakistan Imran Khan Taliban | Pakistan Will Give Assistance Of Rs5 Billion To Afghanistan Taliban Goverment

काबुल7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गुरुवार को काबुल एयरपोर्ट पर तालिबान नेताओं के साथ शाह महमूद कुरैशी।

पाकिस्तान एक बार फिर तालिबान को लुभाने की कोशिश कर रहा है। गुरुवार को अचानक पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और खुफिया एजेंसी ISI के चीफ जनरल फैज हमीद काबुल पहुंचे। यहां उन्होंने तालिबान हुकूमत के नेताओं से मुलाकात की। बाद में कहा कि पाकिस्तान सरकार अफगानिस्तान को मानवीय आधार पर 500 करोड़ रुपए (पाकिस्तानी करंसी) की सहायता देगी।

दरअसल, पाकिस्तान की कोशिश यह है कि वो किसी तरह अफगानिस्तान की तालिबान हुकूमत को इस बात के लिए तैयार करे कि वो तालिबान पाकिस्तान को उनके देश में हमले करने से रोकें। हालांकि, अफगान तालिबान पहले ही साफ कर चुके हैं कि वो पाकिस्तान तालिबान पर किसी तरह का दबाव नहीं डालेंगे।

हम मदद के लिए तैयार
तालिबान नेताओं से मुलाकात के बाद कुरैशी ने कहा- अगर उनको अस्पतालों में दवाइयों की जरूरत होगी या वो कुछ और मदद चाहते होंगे तो हम मदद के लिए बिल्कुल तैयार हैं। हम उनको मानवीय आधार पर सहायता देना चाहते हैं। हम चाहते हैं कि तालिबान हुकूमत की जो बुनियादी जरूरतें हैं, उनको पूरा करने में हम उनकी मदद करें। ये उनके लिए बहुत मुश्किल वक्त है। सत्ता बदली है, इसलिए तमाम तरह की चुनौतियां उनके सामने हैं।

ड्यूटी फ्री इम्पोर्ट्स
कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान सरकार अफगानिस्तान से आने वाले फल और सब्जियों पर अब कोई ड्यूटी नहीं लगाएगी। इसका फायदा यह होगा कि दोनों देशों के बीच ट्रेड रिलेशन पहले से कहीं ज्यादा मजबूत और महफूज होंगे। अफगानिस्तान के लोगों को हम वीजा ऑन अराइवल की सुविधा भी देने जा रहे हैं। हमने अपनी काबुल एम्बेसी को यह अधिकार दिए हैं कि वो अफगानिस्तान के कारोबारियों को पांच साल तक का बिजनेस वीजा जारी कर सकें।

अफगानिस्तान ने क्या भरोसा दिलाया
कुरैशी के मुताबिक, अफगानिस्तान की तालिबान हुकूमत ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि उनकी जमीन का इस्तेमाल पाकिस्तान में हमलों या आतंकी गतिविधियों के लिए नहीं किया जा सकेगा। अफगानिस्तान में बलूचिस्तान लिबरेशन फ्रंट और तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के अड्डे हैं। ये आतंकी संगठन अकसर पाकिस्तान में घुसकर हमले करते हैं।

कुरैशी के साथ आईएसआई के चीफ जनरल फैज हमीद भी थे। फैज जल्द ही पेशावर कोर कमांड के चीफ बनने वाले हैं। उनकी जगह जनरल नदीम अंजुम को आईएसआई के कमान सौंपी जा सकती है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply