दिल्ली हिंसा: मनी लॉन्ड्रिंग केस में ताहिर हुसैन की ED कस्टडी 10 सितंबर तक बढ़ी


दिल्ली हिंसा में आरोपी आम आदमी पार्टी (आप) से निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन की ईडी की रिमांड 10 सितंबर तक बढ़ा दी गई है। दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट ने सोमवार को अपना फैसला सुनाया। ईडी ने ताहिर हुसैन को धोखाधड़ी, दस्तावेजों की जालसाजी और आपराधिक साजिश जैसे कई अन्य अपराधों के लिए भी गिरफ्तार किया है। इससे पहले कोर्ट द्वारा हुसैन को छह दिन की रिमांड दी गई थी।

बता दें कि ताहिर हुसैन के वकील केके मनन ने ईडी की दोबारा रिमांड बढ़ाने की याचिका का विरोध किया था। इस बाबत उन्होंने पूर्व के कई आदेशों का हवाला भी दिया। ईडी की तरफ से पेश वकील अमित महाजन एवं अधिवक्ता नवीन कुमार माट्टा ने कहा कि ताहिर हुसैन ने जालसाजी कर मोटी रकम अपने खाते में स्थानान्तरित कराई है। इसकी जांच की जानी जरूरी है। ईडी का कहना था कि ताहिर हुसैन से बहुत सारे दस्तावेजों की पुष्टि करानी है। बहरहाल, अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद सोमवार को अपना फैसला सुनाया। 

ज्ञात रहे कि इससे पहले ताहिर हुसैन की राउज एवेन्यू अदालत से उत्तर-पूर्वी दिल्ली दंगों के साजिशकर्ता के रूप में गिरफ्तार किया गया था। दंगों के मामले को लेकर ताहिर हुसैन को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने रिमांड पर लिया था। इसी दौरान पुलिस ने कहा कि इन दंगों को प्रायोजित किया गया था। ताहिर हुसैन के खाते में पुणे व अन्य जगहों से रकम आई थी। इसके बाद ईडी ने भी ताहिर हुसैन के खिलाफ अलग से धनशोधन का मुकदमा दर्ज किया था। ईडी अब ताहिर हुसैन के बैंक खातों और उसके पास मौजूद चल-अचल संपति की जांच कर रही है।





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply