नीतीश पर हमला करते-करते तेजस्वी ने क्यों ले लिया अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का नाम


बिहार विधानसभा चुनाव की मुनादी हो चुकी है और सभी राजनीतिक दल वोटरों को अपने पक्ष में करने के लिए जोर आजमाइश कर रहे हैं। इस बीच राजद की अगुवाई वाले महागठबंधन ने नवरात्र के पहले दिन अपना घोषणा पत्र जारी किया। महागठबंधन ने साझा घोषणापत्र को बदलाव के संकल्प पत्र का नाम दिया है। घोषणा पत्र जारी करने के बाद राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने बिहार को विशेष राज्य का दर्जा के मुद्दे पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला। तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार में डबल इंजन की सरकार है, तब भी नीतीश कुमार बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिलवा पाए। नीतीश पर तेजस्वी यादव इस कदर हमलावर थे कि उन्होंने अपने संबोधन में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का भी जिक्र कर डाला। उन्होंने तंज भरे लहजे में कहा कि डोनाल्ड ट्रंप तो अमेरिका से आकर बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दे देंगे। 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, तेजस्वी यादव ने कहा, ‘बिहार में डबल इंजन की सरकार है। नीतीश कुमार पिछले 15 वर्षों से राज्य में शासन कर रहे हैं मगर बिहार को अब तक विशेष राज्य का दर्जा नहीं मिल पाया है। बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने के लिए डोनाल्ड ट्रपं नहीं आएंगे।’

इससे पहले अपने घोषणा पत्र जारी कर तेजस्वी यादव ने कहा कि आज शुभ दिन है, नवरात्र की शुरुआत है, कलश की स्थापना की गई है। कलश स्थापना के दिन संकल्प लिया जाता है। हम ‘प्रण हमारा, संकल्प बदलाव का’ जारी कर रहे हैं। तेजस्वी ने आगे कहा कि अगर हमारी सरकार बनती है तो पहली कैबिनेट में ही दस लाख युवाओं को नौकरी दी जाएगी और फीस माफी की भी घोषणा होगी। 

इसके अलावा, महागठबंधन ने अपने घोषणा-पत्र में वादा किया कि अगर उनकी सरकार बनती है तो परीक्षा केंद्र त जाने के लिए सरकार किराया देगी। साथ ही शिक्षकों के लिए समान वेतना का वादा भी पूरा किया जाएगा। बता दें कि पटना के एक होटल में आयोजित पत्रकार वार्ता में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला समेत वाम दलों के प्रमुख नेताओं के साथ साझा घोषणापत्र को जारी किया गया।





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply