पांच दिन में 2.74 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल, डीजल की कीमत भी 2.83 रुपए बढ़ी


  • लगातार पांचवें दिन 60 पैसे बढ़ी पेट्रोल और डीजल की कीमत
  • दिल्ली में पेट्रोल 74 रुपए प्रति लीटर और डीजल 72.22 रुपए/लीटर हुए

दैनिक भास्कर

Jun 11, 2020, 11:21 AM IST

नई दिल्ली. पेट्रोल-डीजल के दाम में आज यानी गुरुवार को लगातार पांचवें दिन 60 पैसे की बढ़ोतरी की गई। इस बढ़ोतरी के साथ राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल साढ़े चार महीने बाद 74 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया, जबकि डीजल की कीमत 19 महीने बाद 72 रुपए प्रति लीटर को पार कर गई। इन पांच दिनों में पेट्रोल 2.74 रुपए यानी 3.84 प्रतिशत महंगा हो चुका है। इस दौरान डीजल की कीमत भी 2.83 रुपए यानी 4.08 फीसदी बढ़ चुकी है।

25 जनवरी के बाद उच्चतम स्तर पर पेट्रोल की कीमत

देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमत गुरुवार को 60 पैसे बढ़कर 74 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गई। यह इस साल 25 जनवरी के बाद का इसका उच्चतम स्तर है। डीजल भी 60 पैसे महंगा होकर 72.22 रुपए प्रति लीटर के भाव बिका जो 12 नवंबर 2018 के बाद का इसका अधिकतम खुदरा मूल्य है।

मुंबई में 58 पैसे महंगा हुई पेट्रोल

पेट्रोल की कीमत मुंबई में आज 58 पैसे बढ़कर 80.98 रुपए, चेन्नई में 54 पैसे बढ़कर 77.97 रुपए और कोलकाता में 58 पैसे बढ़कर 75.94 रुपए प्रति लीटर हो गई। डीजल कोलकाता में 54 पैसे महंगा होकर 68.17 रुपए, मुंबई में 57 पैसे महंगा होकर 70.92 रुपए और चेन्नई में 52 पैसे की वृद्धि के साथ 70.65 रुपए प्रति लीटर बिका।

देश के चार प्रमुख महानगरों में पेट्रोल-डीजल की कीमत

महानगर पेट्रोल डीजल
दिल्ली 74.00 72.22
कोलकाता 75.94 68.17
मुंबई 80.98 70.92
चेन्नई 77.97 70.65

नोट: कीमत रुपए प्रति लीटर में हैं।

7 जून से लगातार बढ़ रही कीमत

कोरोना संक्रमण सामने आने और लॉकडाउन के कारण सरकारी तेल विपणन कंपनियों ने 16 मार्च से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में रोजाना आधार पर होने वाले बदलाव को बंद कर दिया था। 7 जून को कंपनियों ने पहली बार देश में एक साथ पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की थी। यह बढ़ोतरी करीब 80 दिन बाद की गई थी। 

जून में 5 रुपए प्रति लीटर तक महंगे हो सकते हैं पेट्रोल-डीजल

लॉकडाउन में पेट्रोल-डीजल की मांग कम होने के बावजूद सरकार ने एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दी थी। इससे पेट्रोल-डीजल की पेट्रोल-पंप कीमत पर कोई असर नहीं पड़ा था, लेकिन कंपनियों का मार्जिन प्रभावित हुआ था। पिछले महीने सरकारी तेल विपणन कंपनियों की बैठक में इस पर चर्चा हुई थी। एक अधिकारी ने बताया कि रोजाना के आधार पर होने वाले बदलाव के जरिए जून महीने में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 5 रुपए तक की बढ़ोतरी की जा सकती है।

अप्रैल में 46 फीसदी कम रही पेट्रोलियम उत्पादों की मांग

देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल) की ओर से रेगुलेटरी फाइलिंग में कहा गया था कि अप्रैल 2020 में पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले पेट्रोलियम उत्पादों की मांग में 46 फीसदी की कमी दर्ज की गई थी। अप्रैल में पेट्रोल की 61 फीसदी, डीजल की 56.7 फीसदी और जेट फ्यूल (एटीएफ) की 91.5 फीसदी कम बिक्री हुई थी।

मई में रिफाइनरी क्षमता दोगुनी हुई

देश में पेट्र्रोलियम उत्पादों की मांग मई में अप्रैल के मुकाबले बढ़कर दोगुनी हो गई। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) ने बुधवार को कहा कि उसकी रिफाइनरीज 83 फीसदी क्षमता के साथ काम कर रही हैं। कोरोनावायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लागू किए गए देशव्यापी लॉकडाउन के कारण पेट्रोलियम उत्पादों की मांग घटने से आईओसी ने अप्रैल में अपनी रिफाइनरीज की क्षमता घटाकर 39 फीसदी कर ली थी।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply