पाकिस्तान के दावे पर भारत ने कहा- हमने बातचीत का कोई मैसेज नहीं भेजा; लद्दाख पर चीन को बेतुकी बयानबाजी बंद करने की हिदायत


  • Hindi News
  • National
  • India China | India Befitting Reply To China; Ladakh, Jammu Kashmir And Arunachal Pradesh An Integral Part Of India

नई दिल्ली8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पिछले कुछ महीनों से एलएसी पर भारत और चीन की सेनाओं के बीच लगातार तनाव बना हुआ है। इस इलाके में भारतीय सेना की आवाजाही भी बढ़ गई है। -फाइल फोटो

भारत ने चीन और पाकिस्तान को एक बार फिर करारा जवाब दिया है। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने गुरुवार को कहा कि केंद्र शासित जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश देश के अभिन्न अंग हैं, थे और हमेशा रहेंगे। चीन को कोई हक नहीं है कि वो भारत के अंदरूनी मामलों पर बयानबाजी करे। यह बात चीन को अच्छी तरीके से समझा दी गई है।

वहीं, भारत ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के उस दावे का भी खंडन किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत ने बातचीत के लिए पाकिस्तान को संदेश भेजा था। बता दें कि हाल ही में चीन ने लद्दाख, जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश को लेकर बेतुका बयान दिया था। चीन ने कहा था कि लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश पर भारत का अवैध कब्जा है। इन इलाकों में भारत को निर्माण कार्य रोकने चाहिए।

अंदरूनी मामलों में दखलअंदाजी बर्दाश्त नहीं करेंगे: भारत

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि सीमावर्ती इलाकों में इंफ्रास्ट्रक्चर को सुधारने का काम शुरू किया गया है, जिससे स्थानीय लोगों की आर्थिक स्थिति में सुधार हो सकेगी। साथ ही भारत की सुरक्षा और रणनीतिक आवश्यकताओं को भी पूरी करने में मदद मिलेगी। विदेश मंत्रालय ने कहा कि हमें उम्मीद है कोई भी देश भारत के अंदरूनी मामलों में दखलअंदाजी नहीं करेगा।

चीन ने लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश की वैधता पर उठाए थे सवाल

बता दें कि हाल ही में चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा था कि इन इलाकों पर भारत का अवैध कब्जा है। उन्होंने कहा कि ‘चीन इन इलाकों में किसी भी तरह के इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट का विरोध करता है। भारत ने सीमावर्ती इलाकों में सेना की तैनाती भी बढ़ाई है। दोनों देश ऐसा कोई भी काम न करें, जिससे मौजूदा कोशिशों को चोट पहुंचे।’





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply