पीवी सिंधु की कहानी: पीवी सिंधु ब्रॉन्ज मेडल जीतीं; माता-पिता वॉलीबॉल प्लेयर, 9 साल की उम्र से गोपीचंद की एकेडमी में ट्रेनिंग शुरू की


टोक्यो2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

रियो ओलिंपिक की सिल्वर मेडलिस्ट बैडमिंटन प्लेयर पीवी सिंधु ने टोक्यो में भी ब्रॉन्ज मेडल जीतकर सुशील कुमार के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। उन्होंने ब्रॉन्ज मेडल के लिए हुए मैच में चीन की जियाओ बिंग हे को हराया। सिंधु टोक्यो ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाली इकलौती भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। उन्होंने टोक्यो जाने से पहले एक इंटरव्यू में कहा था कि भारत सरकार की ओर से दिए गए सम्मान और पुरस्कारों को सार्थक करना है।

9 साल की उम्र से गोपीचंद की एकेडमी में ट्रेनिंग शुरू की
पीवी सिंधु का जन्म 5 जुलाई 1995 को आंध्र प्रदेश की राजधानी हैदराबाद में हुआ था। उनके माता-पिता राष्ट्रीय स्तर के वॉलीबॉल खिलाड़ी थे। पिता पीवी रमाना 1986 के सियोल एशियाई खेलों में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे। भले ही सिंधु के माता-पिता वॉलीबॉल खिलाड़ी रहे हों, लेकिन वे खुद पुलेला गोपीचंद के प्रदर्शन से प्रभावित थीं और 9 साल की उम्र से ही गोपीचंद की एकेडमी में अभ्यास करने लगी थीं।

सब जूनियर और जूनियर स्तर पर जीत चुकी हैं कई मेडल
सिंधु ने करियर की शुरुआत में ऑल इंडिया रैंकिंग चैंपियनशिप और सब-जूनियर नेशनल चैंपियनशिप में खिताब जीतकर अपनी प्रतिभा का परिचय दिया। उन्होंने 2009 में सब-जूनियर एशियाई बैडमिंटन चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीता और एक साल बाद ईरान में अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन चैलेंज में सिल्वर मेडल अपने नाम किया। 2012 में उन्होंने एशियन जूनियर चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था।

वर्ल्ड चैंपियनशिप में जीते 5 मेडल
सिंधु ने वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में एक गोल्ड सहित पांच मेडल जीते हैं। 2013 और 2014 में उन्होंने ब्रॉन्ज मेडल जीते। 2017 व 2018 में सिल्वर और 2019 में गोल्ड मेडल अपने नाम किया।

एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में भी जीत चुकी हैं मेडल
सिंधु 2014 इंचियोन एशियन गेम्स में विमेंस टीम इवेंट में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा रही हैं। वहीं जकार्ता एशियन गेम्स में महिलाओं के सिंगल्स में उन्होंने सिल्वर मेडल जीता। वे कॉमनवेल्थ गेम्स में भी एक गोल्ड सहित 3 मेडल जीत चुकी हैं। उन्होंने 2018 गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में देश के लिए मिक्स्ड इवेंट में गोल्ड मेडल जीता था। वहीं महिलाओं के सिंगल्स इवेंट में सिल्वर मेडल अपने नाम किया था। 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स में उन्होंने ब्रॉन्ज मेडल जीता था।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply