फोटोज में सिद्धू का स्ट्रोक प्ले: खुद को कैप्टन के सिपाही बताने वाले सिद्धू ने कैसे किया तख्तापलट, शानदार फुटवर्क से दिया अमरिंदर की हर बाउंसर का जवाब


  • Hindi News
  • National
  • Navjot Singh Sidhu And Punjab Chief Minister Amarinder Singh Clash In Photos

4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

4 साल पहले 15 जनवरी 2017 को भाजपा से कांग्रेस में आए नवजोत सिंह सिद्धू को ही पंजाब में कैप्टन अमरिंदर से इस्तीफा मांगने की वजह माना जा रहा है। कैप्टन और सिद्धू के बीच चंडीगढ़ से दिल्ली तक तकरार चलती रही। हाईकमान को कई बार शक्ति संतुलन के लिए दखल देना पड़ा। हालांकि, सिद्धू अपने आक्रामक तेवरों के चलते हमेशा कैप्टन पर बीस ही दिखाई दिए। कुछ तस्वीरों में देखिए सिद्धू का कांग्रेस में अब तक का सफर…

15 जनवरी 2017- नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस जॉइन की और राहुल के साथ फोटो पोस्ट की। इसमें राहुल गांधी उन्हें माला पहना रहे थे।

15 जनवरी 2017- नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस जॉइन की और राहुल के साथ फोटो पोस्ट की। इसमें राहुल गांधी उन्हें माला पहना रहे थे।

18 मार्च 2017- सिद्धू अमरिंदर की कैबिनेट में मंत्री बने और पहले दिन पत्नी के साथ दफ्तर पहुंचे। फोटो पोस्ट कर लिखा- कैप्टन की आर्मी का सिपाही।

18 मार्च 2017- सिद्धू अमरिंदर की कैबिनेट में मंत्री बने और पहले दिन पत्नी के साथ दफ्तर पहुंचे। फोटो पोस्ट कर लिखा- कैप्टन की आर्मी का सिपाही।

14 जुलाई 2019- बिजली-किसानों के मुद्दे पर सिद्धू ने आवाज उठाई, पर कैप्टन पर असर नहीं पड़ा। इसके बाद उन्होंने कैप्टन को निशाना बनाना शुरू कर दिया। इसके बाद उनका मंत्रालय बदल दिया गया। नाराज सिद्धू ने पंजाब कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया और इस्तीफा भेजा राहुल गांधी को।

14 जुलाई 2019- बिजली-किसानों के मुद्दे पर सिद्धू ने आवाज उठाई, पर कैप्टन पर असर नहीं पड़ा। इसके बाद उन्होंने कैप्टन को निशाना बनाना शुरू कर दिया। इसके बाद उनका मंत्रालय बदल दिया गया। नाराज सिद्धू ने पंजाब कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया और इस्तीफा भेजा राहुल गांधी को।

25 मई 2021- कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के मुद्दे के जरिए सिद्धू लगातार कैप्टन को घेरते रहे। किसानों के समर्थन में अपने घर पर काला झंडा लगाया।

25 मई 2021- कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के मुद्दे के जरिए सिद्धू लगातार कैप्टन को घेरते रहे। किसानों के समर्थन में अपने घर पर काला झंडा लगाया।

23 जुलाई 2021- कैप्टन-सिद्धू का झगड़ा दिल्ली तक पहुंचा। बैठकों का दौर चला और विधायकों की खेमेबंदी भी। आखिरकार उन्हें पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बना दिया गया। सिद्धू ने अमरिंदर के साथ मंच साझा किया, पर तेवरों के साथ फ्रंट फुट पर शॉट खेलकर बता दिया कि वे दबकर रहने वाले नहीं।

23 जुलाई 2021- कैप्टन-सिद्धू का झगड़ा दिल्ली तक पहुंचा। बैठकों का दौर चला और विधायकों की खेमेबंदी भी। आखिरकार उन्हें पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बना दिया गया। सिद्धू ने अमरिंदर के साथ मंच साझा किया, पर तेवरों के साथ फ्रंट फुट पर शॉट खेलकर बता दिया कि वे दबकर रहने वाले नहीं।

20 अगस्त 2021- अध्यक्ष बनने के बाद कुछ मौकों पर अमरिंदर से मुलाकात हुई। पर इन मुलाकातों में मन की दूरियां नहीं मिट पाईं। सार्वजनिक मंचों पर सिद्धू ने अमरिंदर के लिए ही कहा- फैसले लेने की आजादी नहीं दी तो ईंट से ईंट बजा दूंगा।

20 अगस्त 2021- अध्यक्ष बनने के बाद कुछ मौकों पर अमरिंदर से मुलाकात हुई। पर इन मुलाकातों में मन की दूरियां नहीं मिट पाईं। सार्वजनिक मंचों पर सिद्धू ने अमरिंदर के लिए ही कहा- फैसले लेने की आजादी नहीं दी तो ईंट से ईंट बजा दूंगा।

अगस्त-सितंबर 2021- सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस प्रमुख बनते ही पदाधिकारियों की नियुक्ति करना शुरू कर दिया। कैप्टन के खिलाफ अपनी टीम को मजबूती देने की कोशिशों में जुट गए।

अगस्त-सितंबर 2021- सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस प्रमुख बनते ही पदाधिकारियों की नियुक्ति करना शुरू कर दिया। कैप्टन के खिलाफ अपनी टीम को मजबूती देने की कोशिशों में जुट गए।

17 सितंबर 2021- सिद्धू के बढ़ते कद के बीच हाईकमान ने कैप्टन अमरिंदर से इस्तीफा मांगा। नाराज अमरिंदर ने भी कह दिया कि अगर उन्हें CM पद से हटाया गया तो वो पार्टी भी छोड़ देंगे।

17 सितंबर 2021- सिद्धू के बढ़ते कद के बीच हाईकमान ने कैप्टन अमरिंदर से इस्तीफा मांगा। नाराज अमरिंदर ने भी कह दिया कि अगर उन्हें CM पद से हटाया गया तो वो पार्टी भी छोड़ देंगे।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply