बीते सप्ताह शेयर बाजार में तेजी के चलते निवेशको को हुआ 4 लाख करोड़ रु. का फायदा, फार्मा, आईटी और बैंकिंग शेयरों ने दिया 42% तक का रिटर्न


  • Hindi News
  • Business
  • BSE NSE Sensex Performance Last Week | Stock Market Latest Update: Wipro, L&T Infotech, TCS, Aarti Drugs, Metropolis Healthcare

मुंबई22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

शुक्रवार को निफ्टी बैंक इंडेक्स में 655 अंकों की बढ़त के साथ बंद हुआ था। जबकि 1 अक्टूबर से 9 अक्टूबर के बीच इंडेक्स में 1600 अंकों की शानदार बढ़त देखने को मिली है।

  • निफ्टी आईटी इंडेक्स में भी 1727 अंकों की बढ़त देखने को मिली है
  • बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का कुल मार्केट कैप 160.68 लाख करोड़ रुपए हो गया है

बीते कारोबारी सप्ताह में घरेलू शेयर बाजार ने निवेशकों को शानदार रिटर्न दिया है। इस दौरान निवेशकों को 4 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का मुनाफा हुआ। बाजार में तेजी को सहारा फार्मा, आईटी और बैंकिंग शेयरों ने दिया। बाजार में बढ़त के कारण बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप भी रिकॉर्ड हाई पर पहुंच गया है। इसके अलावा मजबूत ग्लोबल संकेत जैसे अमेरिका में राहत पैकेज का ऐलान और कच्चे तेल की कीमतों ने दुनियाभर के शेयर बाजारों को प्रभावित किया है। इसमें भारतीय शेयर बाजार शामिल है।

बाजार में जबरदस्त उछाल

बीएसई सेंसेक्स 40,500 और निफ्टी-50 इंडेक्स 11,900 स्तर के पार बंद हुए। यानी 1 अक्टूबर से 9 अक्टूबर के बीच सेंसेक्स 2441 और निफ्टी 688 अंकों की बढ़त रही है। इसके अलावा बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का कुल मार्केट कैप 160.68 लाख करोड़ रुपए हो गया है। इस दौरान फार्मा और आईटी सेक्टर के चुनिंदा शेयरों ने 42% तक की तेजी दिखाई। खासकर आईटी और फार्मा शेयरों ने हफ्ते में सबसे अच्छा प्रदर्शन किया है।

सप्ताह में बीएसई के टॉप-5 बढ़ने वाले फार्मा शेयर

कंपनी बंद भाव बढ़त (%)
थाइरोकेयर टेक 1069.25 41.34
आरती ड्रग्स 984.20 21.49
लौरस लैब्स 326.60 16.48
डॉ. लाल पैथलैब्स 2054.70 10.45
मेट्रोपॉलिस हेल्थकेयर 1966.70 9.98

आईटी शेयरों में रही 20% तक की तेजी

बाजार में शानदार बढ़त के चलते निफ्टी आईटी इंडेक्स में भी 1727 अंकों की बढ़त देखने को मिली है। शुक्रवार को इंडेक्स 21837 के स्तर पर बंद हुआ था। इस दौरान दिग्गज टीसीएस का मार्केट कैप भी 10 लाख करोड़ रुपए का स्तर पार कर गया है। शुक्रवार को बाजार बंद होने के बाद कंपनी का टोटल मार्केट कैप 10.56 लाख करोड़ रुपए था। मार्केट कैप के लिहाज से टीसीएस, रिलायंस इंडस्ट्रीज के बाद दूसरे स्थान पर है। दोनों के बीच 4 लाख करोड़ रुपए का अंतर रहा गया है। बीते सप्ताह कंपनी ने निवेशकों को 12% का रिटर्न दिया है।

सप्ताह में बीएसई के टॉप-5 बढ़ने वाले आईटी शेयर

कंपनी बंद भाव बढ़त (%)
विप्रो 374.10 19.52
इंफीबीम एवेन्यू 87.85 17.21
एलएंडटी इंफोटेक 2929.30 15.89
माइंडट्री 1504.20 12.50
टीसीएस 2814.95 11.58

बैंकिंग शेयरों पर का शानदार प्रदर्शन

कारोबारी सप्ताह के अंत में आरबीआई ने रेपो रेट 4% पर स्थिर रखने का फैसला लिया है। खबर का असर बाजार के साथ-साथ बैंकिंग शेयरों पर रहा। शुक्रवार को निफ्टी बैंक इंडेक्स में 655 अंकों की बढ़त के साथ बंद हुआ था। जबकि 1 अक्टूबर से 9 अक्टूबर के बीच इंडेक्स में 1600 अंकों की शानदार बढ़त देखने को मिली है। इस दौरान बंधन बैंक का शेयर 14% तक उछला। इसी दौरान एचडीएफसी बैंक का शेयर भी 12% की बढ़त रही। हफ्ते में शानदार बढ़त के कारण ही बीएसई में एचडीएफसी बैंक का कुल मार्केट बढ़कर 6.78 लाख करोड़ रुपए के स्तर पर पहुंच गया है।

सप्ताह में बीएसई के टॉप-5 बढ़ने वाले बैंकिंग शेयर

कंपनी बंद भाव बढ़त (%)
बंधन बैंक 325.65 13.92
एचडीएफसी बैंक 1233.70 11.49
आईसीआईसीआई बैंक 401.65 8.80
सिटी यूनियन बैंक 150.95 6.98
एक्सिस बैंक 468.20 5.61

बाजार में तेजी के साथ मार्केट कैप भी बढ़ा

शानदार बढ़त के चलते बाजार में दिग्गज कंपनियों के शेयरों में भी अच्छी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। इसमें सबसे आगे टीसीएस रहा, जिसका मार्केट कैप 10.50 लाख रुपए के स्तर को पार कर चुका है। इसके अलावा एचडीएफसी बैंक का मार्केट कैप भी बढ़ा है। इसके अलावा बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का कुल मार्केट कैप 1 अक्टूबर को एम कैप 156 लाख करोड़ रुपए था, जो 4 लाख करोड़ रुपए बढ़कर 160.68 लाख करोड़ रुपए हो गया है। यानी कारोबारी सप्ताह में निवेशकों को 4 लाख करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ।

बीएसई में दिग्गज कंपनियों का मार्केट कैप

कंपनी बंद भाव मार्केट कैप ( लाख करोड़ रु.)
रिलायंस इंड. 2233.70 15.10
टीसीएस 2814.95 10.56
एचडीएफसी बैंक 1233.70 6.48
एचयूएल 2138.85 5.02
इंफोसिस 1107.55 4.71

मजबूत ग्लोबल संकेतों से मिला बाजार को सहारा

इस हफ्ते बाजार में बढ़त की बड़ी वजह मजबूत ग्लोबल संकेत भी रहे। अमेरिका में ट्रंप प्रशासन ने कोरोना से लड़ने के लिए 1.6 ट्रिलियन डॉलर के राहत पैकेज का ऐलान किया था, जिसे बढ़ाकर 1.8 ट्रिलियन कर दिया गया है। खबर के बाद दुनियाभर के बाजारों पर पॉजिटिव असर पड़ा। इसमें भारतीय शेयर बाजार भी शामिल था। हालांकि, डेमोक्रेट्स 2.2 ट्रिलियन डॉलर की मांग पर अड़े हैं। इसके अलावा कच्चे तेल की कीमतों ने भी दुनियाभर के बाजारों का प्रभावित करने का काम किया। कच्चे तेल की कीमत बीते एक सप्ताह में 10% बढ़ी हैं।

अनलॉक में मिल रही रियायतों से मिलेगा सपोर्ट

इसके अलावा अनलॉक प्रक्रिया के तहत मिलने वाली रियायतों के चलते औद्योगिक गतिविधियां भी बढ़ीं हैं। इस पर आनंद राठी सिक्युरिटीज के नरेंद्र सोलंकी कहते हैं कि शेयर बाजार हमेशा भविष्य की गतिविधियों पर कारोबार करता है। अब जबकि अनलॉक चालू है, सारी चीजें खुल रही हैं ऐसे में बाजार को उम्मीद है कि आगे सब अच्छा होगा। उनका कहना है कि हाल में जो कुछ नंबर आए हैं वे काफी अच्छे हैं। चाहे वे ऑटो सेक्टर की बिक्री के नंबर हों या फिर लिक्विडिटी की बात हो।

बाजार में और बढ़त की उम्मीद

सोलंकी कहते हैं कि दूसरी तिमाही के नतीजे आने शुरु हो गए हैं। इसकी शुरुआत 7 अक्टूबर को टीसीएस की दूसरी तिमाही के नतीजे का साथ हो गई है। ऐसे में उम्मीद है कि रिजल्ट सीजन बेहतर रहेगा। वे कहते हैं कि इन सब चीजों से ऐसा दिख रहा है कि आगे सब ठीक-ठाक होगा और इसी अधार पर बाजार में तेजी बनी है। हम अब जनवरी के हाई को देख रहे हैं जो इस महीने में टच हो रहा है।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply