बेंगलुरु हिंसा में एनआईए की 30 ठिकानों पर छापेमारी, मुख्य सजाशिकर्ता माने जानेवाला सादिक अली गिरफ्तार


राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए ने बेंगलुरु में पिछले महीने भड़की हिंसा की जांच के सिलसिले में गुरुवार को करीब 30 ठिकानों पर छापेमारी की। जांच एजेंसी ने सादिक अली को गिरफ्तार किया है। एनआईए के मुताबिक, 44 वर्षीय सादिक अली दंगे का मुख्य साजिशकर्ता है, जिसने पिछले महीने शहर में दंगा भड़काया। इस हिंसा के दौरान पुलिस फायरिंग में 3 तीन लोगों की मौत समेत कुल चार लोग मारे गए थे।

कांग्रेस विधायक के एक रिश्तेदार की तरफ से अपमानजनक पोस्ट सोशल मीडिया पर डालने के बाद यह 11 अगस्त की रात को दंगा भड़क उठी थी। एनआईए ने औपचारिक रूप से इस दंगा केस की जांच मंगलवार को अपने हाथों में लिया। इसने बताया कि सादिक अलीग दंगे वाली रात से ही फरार चल रहा था।

एजेंसी ने आगे कहा कि तलाशी के दौरान उन्होंने एयरगन, पैलेट्स, धारदार हथियार और लोहे के रड बरामद किए। उसने कहा कि छापे के दौरान कुछ डिजिटल डिवाइस और सोशल डेमोक्रेकिट पार्टी ऑफ इंडिया और स्टुडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) से जुड़े कई आपत्तिजनक कागजात बरामद किए हैं। 

ये भी पढ़ें: बेंगलुरु हिंसा में दंगाइयों से संपत्ति के नुकसान की भरपाई करेगी सरकार

भड़काऊ सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर कांग्रेस विधायक आर. अखंड श्रीनिवास और उनकी बहन को निशाना बनाकर किए गए इस हमले के बाद 11 अगस्त की रात शहर में भड़की हिंसा और आगजनी को लेकर एसडीपीआई सदस्यों समेत करीब 300 से ज्यादा लोग गिरफ्तार किए गए थे।

बीजेपी ने राजनीतिक संगठन पॉपुलर फ्रंड ऑफ इंडिया से जुड़े एसडीपीआई को दंगा के लिए कसूरवार ठहराया और इस संगठन पर प्रतिबंध लगाने की मांग की। हालांकि, एसडीपीआई ने इन आरोपों को निराधार बताकर खारिज कर दिया।

ये भी पढ़ें: बेंगलुरु हिंसा केस में 35 और आरोपी गिरफ्तार, 18 अगस्त तक धारा-144



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply