मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मांगी माफी, कहा- प्रधानमंत्री की भावना के अनुरूप नहीं था उनका बयान


कोरोना के बढ़ते संक्रमण से खुद को बचाने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा लगातार मास्क पहनने की अपील की जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ‘जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं’ का संदेश दिया है, लेकिन इसका असर उनकी ही पार्टी के नेता और मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा पर नहीं हो रहा है। कल उन्होंने मीडिया के सवाल पर कहा था कि मैं मास्क्र नहीं पहनता हूं। हालांकि अपने उस बयान के लिए उन्होंने माफी मांगी है।

नरोत्त मिश्रा ने ट्वीट कर कहा, ”मास्क पहनने के बारे में मेरे बयान से कानून की अवहेलना महसूस हुई है। यह माननीय प्रधानमंत्री जी की भावना के अनुरूप नहीं था। मैं अपनी गलती मानते हुए खेद प्रकट करता हूं। मैं स्वंय भी मास्क पहनूंगा। समाज से भी अपील करूंगा कि सभी मास्क पहनें।”

आपको बता दें कि कल नरोत्तम मिश्रा प्रदेश सरकार की गरीब कल्याण आधारित “सम्बल” योजना से जुडे़ कार्यक्रम में भाग लेने इंदौर आये थे। इस कार्यक्रम में उनके मास्क नहीं पहनेने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “मैं किसी भी कार्यक्रम में (मास्क) नहीं पहनता। इसमें क्या होता है?”

उनके इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद विपक्षी कांग्रेस ने सत्तारूढ़ भाजपा पर सवाल दागा है कि क्या कोविड-19 से बचाव के नियम-कायदे केवल आम लोगों पर लागू होते हैं?

मिश्रा के पास जेल, संसदीय कार्य, विधि एवं विधायी कार्य विभाग भी है। जब वह संवाददाताओं से बात कर रहे थे, तब भी उन्होंने मास्क नहीं पहन रखा था। हालांकि, उनके पास ही खडे़ राज्य के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट और अन्य भाजपा नेताओं ने महामारी से बचाव के लिये मास्क पहना हुआ था।

उधर, प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने मास्क नहीं पहनने को लेकर मिश्रा के बयान के वायरल वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा, “है कोई माई का लाल जो नियमों के उल्लंघन पर इन पर कार्रवाई का साहस दिखा सके ? नियम सिर्फ जनता के लिये ?”





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply