महाराष्ट्र में लगातार दूसरे दिन कोरोना के 16 हजार से ज्यादा मरीज, अब तक 24399 लोगों की मौत


महाराष्ट्र में कोविड-19 के एक दिन में 16,408 नए मामले सामने आने के साथ रविवार को कुल आंकड़ा बढ़ कर 7,80,689 पहुंच गया। राज्य स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी। विभाग के मुताबिक 296 और मरीजों की मौत हो जाने से राज्य में इस महामारी से मरने वालों की कुल संख्या बढ़ कर 24,399 हो गई।

मुंबई में रविवार को 1237 मामले सामने आये और 30 मरीजों की मौत हुई। इसके साथ ही मुंबई में संक्रमण के कुल मामले बढ़ कर 1,44,626 हो गए। वहीं, शहर में अब तक 7,626 मरीजों की मौत हुई है। मुंबई महानगर क्षेत्र के नवी मुंबई में 488 और कल्याण डोम्बीवली में 366 नए मामले सामने आए। पुणे में 1163 मामले, पिंपरी चिंचवड में 1072, नागपुर शहर में 836, नासिक शहर में 1049, कोल्हापुर शहर में 305, सांगली शहर में 297, लातूर में 154 और नांदेड़ में 128 मामले रविवार को सामने आए।

स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि रविवार दिन में दर्ज की गई 296 मौतों में 220 मौतें पिछले 48 घंटे में हुई जबकि 43 मौतों के आंकडें पिछले हफ्ते के हैं और शेष 33 मौतें पिछले हफ्ते से पहले की हैं। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि राज्य में करीब 7,690 मरीजों के इस रोग से उबरने के बाद उन्हें रविवार को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई। इसके साथ, राज्य में अब तक 5,62,401 मरीज संक्रमण मुक्त हो गए हैं। राज्य में कोविड-19 मरीजों की मृत्यु दर 3.13 प्रतिशत है। राज्य में अभी 1,93,548 मरीज इलाजरत हैं। 

जांच की तेज रफ्तार के चलते आ रहे कोविड-19 के अधिक मामले: मंत्री
दूसरी ओर, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने रविवार को कहा कि राज्य में पिछले एक महीने से जांच की तेज रफ्तार और रोगियों के संपर्क में आए लोगों का समय पर पता लगाने के कारण राज्य में कोविड-19 के अधिक मामले सामने आ रहे हैं। टोपे ने पीटीआई-भाषा से कहा कि राज्य सरकार तैयारियों और बीमारी के बारे में जागरूकता उत्पन्न करने पर ध्यान दे रही है।

उन्होंने कहा, ”हम आक्रामक रूप से चार टी ‘ट्रैकिंग, ट्रेसिंग, टेस्टिंग, ट्रीटमेंट’ पर अत्यधिक ध्यान दे रहे हैं। कोविड-19 की जांच के लिए 400 प्रयोगशालाएं हैं और राज्य में हर रोज 50 हजार से अधिक जांच की जा रही हैं। एंटीजन जांच और आरटी-पीसीआर जांच इष्टतम क्षमता के साथ की जा रही हैं।” मंत्री ने यह भी कहा कि पिछले महीने में कोविड-19 के मामलों में प्रतिबंधों में ढील के कारण बढ़ोतरी हुई है।





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply