माइकल जॉर्डन बोले- नस्लवाद के खिलाफ मिलकर आवाज उठाएं, जर्मनी में दो खिलाड़ी जस्टिस फॉर फ्लॉयड लिखी टीशर्ट पहनकर मैच खेलने उतरे


  • माइकल जॉर्डन के अलावा बास्केटबॉल के कई दिग्गज खिलाड़ी जॉर्ज फ्लॉयड की मौत पर गुस्सा जता चुके
  • लेकर्स के लेबरन जेम्स ने ट्वीट किया- आखिर क्यों अमेरिका हमसे प्यार नहीं करता?
  • जॉर्ज फ्लॉयड की 26 मई को पुलिस कस्टडी में मौत हुई थी, विरोध में हिंसा के बाद 40 शहरों में कर्फ्यू

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 11:30 AM IST

अमेरिका के मिनेपोलिस में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के मामले में खिलाड़ी भी खुलकर विरोध जता रहे। टेनिस स्टार कोको गॉफ के बाद अमेरिका के पूर्व बास्केटबॉल खिलाड़ी माइकल जॉर्डन ने भी ट्वीट कर घटना के खिलाफ गुस्सा जताया। वहीं, जर्मनी के फुटबॉल क्लब बोर्सिया डॉर्टमंड के दो खिलाड़ी विरोध जताने के लिए मैच में ‘जस्टिस फॉर फ्लॉयड लिखी’ टी-शर्ट पहनकर खेलने उतरे।    

जॉर्डन ने अमेरिका में पुलिस के हाथों अश्वेतों की मौत पर एक बयान जारी कर कहा- मेरी संवेदनाएं फ्लॉयड के परिवार के अलावा उन अनगिनत लोगों के साथ हैं, जिन्होंने नस्लीय बर्बरता और अन्याय की वजह से जान गंवाई। अब बहुत हो चुका, हमें इकठ्ठा होकर नस्लवाद के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए। ताकि हमारे नेताओं पर कानून बदलने का दबाव बने। हर किसी को इस मसले के समाधान का हिस्सा बनना होगा। 

कई बास्केटबॉल खिलाड़ी फ्लॉयड की मौत पर गुस्सा जता चुके

जॉर्डन के अलावा लॉस एंजिल्स लेकर्स के बास्केटबॉल खिलाड़ी लेबरन जेम्स, बोस्टन सेल्टिक्स के जेलेन ब्राउन, ड्रेटॉयट पिस्टंस के कोच ड्वेन कैसी इस बर्बरता के खिलाफ विरोध जता चुके हैं।

जेम्स ने एक दिन पहले ही ट्वीट किया था- आखिर क्यों अमेरिका हमसे प्यार नहीं करता है?। सेल्टिक्स के स्टार ब्राउन विरोध प्रदर्शन में शामिल होने के लिए बोस्टन से अटलांटा पहुंच गए थे। 

इससे पहले, टेनिस स्टार गॉफ ने भी फ्लॉयड की मौत के बाद वीडियो शेयर करते हुए पूछा था कि अगला नंबर मेरा तो नहीं है?। 

जर्मनी में भी फुटबॉल खिलाड़ियों ने विरोध जताया

इधऱ, जर्मनी के फुटबॉल क्लब बोर्सिया डॉर्टमंड के दो खिलाड़ी जैडोन सैंचो और अचरफ हकीमी ने भी फ्लॉयड की हत्या पर अनूठे तरीके से विरोध जताया। दोनों रविवार को बुंदेसलीगा में पैडरबॉर्न के खिलाफ मैच में ‘जस्टिस फॉर फ्लॉयड’ लिखी टी-शर्ट पहनकर खेलने उतरे। इससे पहले बोरुसिया मूंचेनग्लैडबैक के खिलाड़ी मार्कस थूरम यूनियन बर्लिन के खिलाफ मैच में गोल करने के बाद फ्लॉयड के सम्मान में घुटने के बल बैठे थे। 

अमेरिका के 40 शहरों में कर्फ्यू

अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद राजधानी वॉशिंगटन डीसी समेत 40 शहरों में कर्फ्यू लगाया जा चुका है। वॉशिंगटन समेत 15 शहरों में करीब 5 हजार नेशनल गार्ड्स की तैनाती की गई है। 

26 मई को फ्लॉयड को गिरफ्तार किया गया था
मिनेपोलिस में 26 मई को धोखाधड़ी के एक मामले में फ्लॉयड को गिरफ्तार किया गया था। पूछताछ के दौरान एक पुलिस अफसर ने फ्लॉयड को सड़क पर ही गिरा दिया था और अपने घुटने से उसकी गर्दन को करीब आठ मिनट तक दबाए रखा था। इसका वीडियो भी वायरल हुआ था।

इसमें जॉर्ज लगातार पुलिस अफसर से घुटना हटाने की गुहार लगाता नजर आया था। इस दौरान कई लोग भी पुलिस अफसर से उसे छोड़ने के लिए कह रहे थे। लेकिन वह नहीं माना। कुछ देर बाद जब पुलिस अफसर ने उसे कार में बैठने के लिए कहा, तो उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply