मुख्यमंत्री ने कहा- कोरोनावायरस का संकट अभी टला नहीं, जरा सी लापरवाही भारी पड़ सकती है


  • रेड और ग्रीन जोन खत्म किए गए, कारोबारी गतिविधियों को पटरी पर लाने के लिए पाबंदियों धीरे-धीरे हटाई जा रहीं
  • भोपाल, इंदौर, उज्जैन में नगर निगम सीमा के भीतर निजी और सरकारी दफ्तरों में 50% कर्मचारियों को छूट

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 02:56 PM IST

भोपाल. मध्य प्रदेश में लॉकडाउन फेज-5 की शुरुआत सोमवार से हो गई है। ये लॉकडाउन के पिछले 4 फेज से अलग है। अब ये सिर्फ कंटेनमेंट एरिया में ही लागू रहेगा। रेड और ग्रीन जोन भी खत्म कर दिए गए हैं। इस बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोनावायरस का संकट अभी टला नहीं है। जरा सी भी लापरवाही भारी पड़ सकती है। इसलिए सावधानी रखना और पहले से बनाए गए नियमों का पालन करना जरूरी है।

कारोबारी गतिविधियों को पटरी लाने के लिए कई पाबंदियों को धीरे-धीरे अनलॉक किया जा रहा है। कंटेनमेंट इलाकों में 30 जून तक लॉकडाउन जारी रहेगा। भोपाल, इंदौर, उज्जैन में नगर निगम सीमा के भीतर निजी और सरकारी दफ्तर (कंटेनमेंट को छोड़कर) 50%, जबकि बाकी प्रदेश में 100% कर्मचारियों के साथ खुल सकेंगे।

कर्मचारियों के लंच का टाइम अलग-अलग होगा। सार्वजनिक बसें इंदौर, उज्जैन, भोपाल को छोड़कर बाकी संभागों में 50% क्षमता के साथ चलेंगी। अंतरराज्यीय बसें शुरू करने पर फैसला 7 जून के बाद होगा। 65 साल से ज्यादा उम्र के लोग, बीमार व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं और 10 साल से कम उम्र के बच्चे बिना स्वास्थ्य कारण के बाहर नहीं निकल सकेंगे।

यात्रियों को डेढ़ घंटे पहले स्टेशन पहुंचना होगा

रेलवे ने सोमवार से देशभर में 200 ट्रेनों की शुरूआत की है। यात्रियों को कम से कम डेढ़ घंटे पहले स्टेशन पहुंचना होगा। हालांकि, जो यात्री ट्रेन की रवानगी से 10 मिनट पहले भी पहुंचते हैं, उन्हें अपनी थर्मल स्क्रीनिंग का प्रूफ दिखाना पड़ेगा। इसके बाद वे यात्रा कर सकेंगे। रेल अधिकारियों का कहना है कि आखिरी समय पर पहुंचने वाले यात्रियों के कारण भगदड़ मच सकती है और सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करने में दिक्कत आ सकती है। इसलिए रेलवे ने डेढ़ घंटे पहले स्टेशन पर पहुंचने के लिए कहा है।

भोपाल के हबीबगंज स्टेशन से सोमवार रात शान-ए-भोपाल एक्सप्रेस दिल्ली के लिए रवाना होगी। रविवार रात को जीआरपी के जवानों को स्टेशन की व्यवस्था संभालने की रिहर्सल कराई गई। 

2 महीने इंतजार के बाद हबीबगंज स्टेशन पहुंची जबलपुर जन शताब्दी
भोपाल में पहली ट्रेन जबलपुर से वाया इटारसी जनशताब्दी एक्सप्रेस हबीबगंज स्टेशन पहुंची। जबलपुर और आसपास फंसे लोग दो महीने बाद अपने घर पहुंचे। ट्रेन सुबह 11 बजे 456 यात्रियों को लेकर पहुंची।

प्रदेश से बाहर जाने के लिए ई-पास लगेगा
केंद्र की गाइडलाइन के मुताबिक, भोपाल में पहले की तरह बाजार सुबह 7 बजे खुलेंगे और शाम 7 बजे बंद हो जाएंगे। हालांकि, आवाजाही रात 9 बजे तक रह सकेगी। उधर, भोपाल के लोग प्रदेश के किसी भी जिले में बिना ई-पास के यात्रा कर सकेंगे। प्रदेश से बाहर जाने के लिए पोर्टल mapit.gov.in/covid-19 पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा। 

  • रेस्टोरेंट, होटल खुल जाएंगे : कंटेनमेंट एरिया के बाहर 8 जून से धार्मिक स्थल, सार्वजनिक स्थल, होटल, रेस्टोरेंट, शॉपिंग मॉल खुल जाएंगे। लेकिन, पूरे प्रदेश में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू रहेगा।
  • स्कूल-कॉलेज पर फैसला जुलाई में : 12वीं की परीक्षाओं के लिए स्कूल खोले जाएंगे। स्कूल, कॉलेज, कोचिंग संस्थान खोलने का फैसला सभी पक्षों की राय के बाद जुलाई में लिया जाएगा।
  • इन पर प्रतिबंध जारी : सिनेमा हॉल, जिम, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार, ऑडिटोरियम, सभा कक्ष, मैरिज गार्डन, सामाजिक-राजनीतिक आयोजन, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक गतिविधियां।

अभी ये काम नहीं होंगे 

  • लोग सुबह की सैर करने नहीं जा सकेंगे।
  • चाय-नाश्ते की दुकानें अभी नहीं खुलेंगी। 
  • मैरिज गार्डन, होटल, धर्मशाला अधिग्रहण से मुक्त तो कर दिए गए हैं पर इनमें कोई गतिविधि शुरू नहीं होगी। 
  • हेयर सैलून, ब्यूटी पार्लर, स्पा सेंटर का संचालन नहीं होगा। इस बारे में जल्द गाइडलाइन जारी की जाएंगी।
  • रेड जोन या ग्रीन जोन से भोपाल आए किसी व्यक्ति को 14 दिन क्वारैंटाइन करने का फैसला स्वास्थ विभाग की गाइडलाइन जारी होने के बाद लिया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा- कोरोनावायरस का संकट अभी टला नहीं, जरा सी लापरवाही भारी पड़ सकती है
भोपाल में सोमवार सुबह से सड़कों पर भीड़ नजर आ रही है। नियमों का पालन नहीं करने वालों पर पुलिस सख्ती दिखा रही है।

इंदौर में सबसे ज्यादा 3 हजार 486 केस

रविवार को प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 198 मामले सामने आए। संक्रमितों की संख्या 8 हजार 89 हो गई। राज्य में 4 हजार 842 लोग ठीक हो चुके हैं और 2 हजार 897 एक्टिव केस हैं। बीते 24 घंटे में 398 लोग स्वस्थ हुए। इंदौर में सबसे ज्यादा 55 केस मिले। यहां संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3 हजार 486 हो गई। अभी तक 132 लोगों की मौत हुई है, 176 लोग स्वस्थ हुए हैं। रविवार को भोपाल में कोरोना के 45 केस मिले। यहां एक्टिव केस 447 हैं। उज्जैन में 10 मामले बढ़े और संख्या 670 तक पहुंच गई। मौत के मामले 57 हैं। यहां अब एक्टिव केस 172 हैं और 441 ठीक हो गए हैं।

प्रवासी मजदूरों के आने के बाद संक्रमित बढ़े, पैदल आने वाला संक्रमित नहीं
मध्य प्रदेश के बुंदेलखंड में कोरोनावायरस का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। लॉकडाउन के चौथे दौर की शुरुआत तक सागर में 5, छतरपुर और टीकमगढ़ में 1-1 मरीज थे। अब यहां 6 जिलों में 181 मरीज हो गए। निवाड़ी जिले में अभी तक एक भी मामला सामने नहीं आया। पूरे बुंदेलखंड में मरीजों की शुरुआत महाराष्ट्र, दिल्ली और गुजरात से प्रवासियों के आने के बाद हुई। स्वास्थ्य विभाग की जांच में ये भी सामने आया कि संक्रमण उन लोगों में ज्यादा फैला है, जो किसी साधन से आए हैं। पैदल आने वाला एक भी मजदूर अभी तक संक्रमित नहीं मिला है।

बुंदेलखंड: सागर में सबसे ज्यादा 181 केस, 9 संक्रमितों की मौत
अब तक सागर में 181, छतरपुर में 20, दमोह में 24, टीकमगढ़ में 9, दतिया में 8, पन्ना में 6 मामले मिले हैं। सभी जिलों में बीते 8 दिन से नए मामले सामने आने की रफ्तार बढ़ी है। सागर प्रदेश का नया हॉट स्पॉट बनकर उभरा है। यहां कम्युनिटी स्प्रेड जैसे हालात बन गए हैं। जो मरीज मिल रहे हैं, उनके परिवार के अन्य लोग भी संक्रमित हैं। लेकिन, प्रशासन कम्युनिटी स्प्रेड की आशंका से इनकार कर रहा है। 

कोरोना अपडेट्स

  • भोपाल: सोमवार सुबह 43 नए कोरोना संक्रमित मिले। इसके साथ यहां 1 हजार 510 केस हो गए। इनमें से 964 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। संक्रमण से अब तक 57 लोगों की जान गई है। 
  • छिंदवाड़ा: जिले में 4 कोरोना संक्रमित मिले। यहां संक्रमितों की संख्या 14 हो गई। चारों हाल ही में अहमदाबाद और चेन्नई से लौटे थे। जिले में संक्रमण से अब तक एक मौत हुई है। 5 स्वस्थ हो चुके हैं। अब 8 एक्टिव केस हैं।
  • सागर: जिले में 8 मरीजों की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई। इनमें एक महिला समेत 3 सदर इलाके के हैं। जबकि जाटपथरिया, बाहूबली कॉलोनी, बीना, खुरई में एक-एक मरीज मिला।
  • खंडवा: जिले में 8 नए केस मिले। इनमें से 5 गांधीनगर के, 2 मरीज संत रैदास वार्ड के और एक सिंधी काॅलोनी का रहने वाला है। कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 248 हो चुकी है।

अब तक 8 हजार 89 संक्रमित: इंदौर 3 हजार 486, भोपाल में 1 हजार 467, उज्जैन में 670, बुरहानपुर में 302, खंडवा में 240, जबलपुर में 238, नीमच में 205, सागर में 172, खरगौन में 140, धार में 123, ग्वालियर में 121, देवास में 92, मंदसौर में 92, मुरैना में 93, रायसेन में 68, भिंड में 56, बडवानी में 53, होशंगाबाद में 37, रीवा में 35, रतलाम में 34, बैतूल में 26, सतना में 21, विदिशा में 27, छतरपुर में 20, दमोह मे 24, डिण्डोरी में 20, आगरमालवा में 13, झाबुआ में 13, अशोकनगर में 12, सीधी में 14, सिंगरौली में 11, छिदंवाड़ा में 10, नरसिंहपुर में 10, शाजापुर में 9, टीकमगढ़ में 9, दतिया में 8, राजगढ में 10, शिवपुरी में 10, बालाघाट में 7, सीहोर में 11, शहडोल में 10, श्योपुर में 14, उमरिया में 7, अनूपपुर में 17, मंडला में 4, पन्ना में 6, अलीराजपुर-हरदा-गुना में 3-3, सिवनी में 2 और कटनी में 1 मरीज।

350 मरीजों की मौत: इंदौर में 132, भोपाल में 57, उज्जैन में 57, बुरहानपुर में 15, खंडवा में 13, जबलपुर में 9, नीमच में 4, सागर में 8, खरगौन में 11, धार में 3, ग्वालियर में 2, देवास में 9, मंदसौर में 8, मुरैना में 1, रायसेन में 3, बडवानी में 1, होशंगाबाद में 3, रतलाम मे 1, सतना में 2, आगरमालवा-झाबुआ-अशोकनगर-छिदंवाडा-शाजापुर-दतिया-राजगढ-सीहोर-श्योपुर-उमरिया-मंडला में 1-1 मरीज की मौत हो चुकी है।

(स्वास्थ्य विभाग द्वारा 31 मई की रात 9 बजे जारी बुलेटिन के अनुसार)



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply