मूडीज ने देश की रेटिंग घटाई, बीएए2 से घटाकर बीएए3  किया


  • मूडीज ने कहा कि लंबी आर्थिक सुस्ती और खराब हो रही वित्तीय स्थिति से निपटने की नीतियों को लागू करना सरकार के लिए चुनौतीपूर्ण होगा
  • वैश्विक रेटिंग एजेंसी ने नवंबर 2017 में देश की क्रेडिट रेटिंग को बीएए3 से एक पायदान ऊपर उठाकर बीएए2 किया था

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 09:40 PM IST

नई दिल्ली. विश्वस्तरीय रेटिंग एजेंसी मूडीज इन्वेस्टर्स  सर्विस ने सोमवार को भारत की संप्रभु रेटिंग घटा दी। रेटिंग एजेंसी ने देश की रेटिंग को बीएए2 से घटाकर बीएए3 कर दिया। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि लंबे समय तक संभावित आर्थिक सुस्ती और खराब होती जा रही वित्तीय स्थिति से निपटने की नीतियों को लागू करना सरकार के लिए चुनौतीपूर्ण होगा।

एजेंसी ने क्रेडिट रेटिंग के आउटलुक को नकारात्मक बनाए रखा

रेटिंग एजेंसी ने एक बयान में कहा कि उसने भारत सरकार की फॉरेन करेंसी और लोकल करेंसी लांग टर्म इशुअर रेटिंग को बीएए2 से घटाकर बीएए3 कर दिया है। उसने भारत की लोकल करेंसी सीनियर अनसिक्योर्ड रेटिंग को भी बीएए2 से घटाकर बीएए3 कर दिया है। उसने भारत की शॉर्ट टर्म लोकल करेंसी रेटिंग को पी-2 से घटाकर पी-3 कर दिया। उसने भारत के आउटलुक को नकारात्मक पर बरकरार रखा।

निवेश के लिहाज से सबसे खराब रेटिंग है बीएए3

मूडीज ने कहा कि नकारात्मक आउटलुक का मतलब यह है कि अर्थव्यवस्था और वित्तीय प्रणाली में गहरे तनाव के कारण गिरावट का जोखिम बना हुआ है। इससे मूडीज के वर्तमान अनुमान के मुकाबले देश की वित्तीय ताकत में एक बड़ी और लंबे समय की गिरावट आ सकती है। बीएए3 निवेश के लिहाज से सबसे खराब रेटिंग है। यह जंक श्रेणी से बस एक स्तर ऊपर है। मूडीज ने 13 साल के बाद नवंबर 2017 में भारत की संप्रभु क्रेडिट रेटिंग को एक पायदान ऊपर उठाकर बीएए3 से बीएए2 कर दिया था।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply