यूपी: देवरिया में जिस कांग्रेस नेत्री के साथ हुई थी मारपीट, वह बोलीं- पार्टी ने बलात्कारियों को दिया टिकट


उत्तर प्रदेश के देवारिया में टिकट बंटवारे पर जिस महिला से हाथापाई की बात सामने आई थी उन्होंने रविवार को अपनी पार्टी पर ही कई आरोप लगाए हैं। महिला नेत्री ने कहा कि एक तरफ  हमारी पार्टी के नेता हाथरस पीड़ित के लिए न्याय के लिए लड़ रहे हैं और दूसरी तरफ एक बलात्कारी को पार्टी ने टिकट दे रही है। यह गलत निर्णय है। यह हमारी पार्टी की छवि को खराब करेगा।

दरअसल शनिवार को उपचुनाव को लेकर कांग्रेस की बैठक में अचानक उस वक्‍त हंगामा खड़ा हो गया जब पार्टी की एक नेत्री ने राष्‍ट्रीय सचिव और प्रदेश प्रभारी सचिन नायक पर हमला बोल दिया। देखते ही देखते हाथापाई होने लगी। कुछ प्रत्‍यक्षदर्शियों ने बताया कि इस दौरान नायक पर गुलदस्‍ता भी फेंका गया। 

कांग्रेस की नेता से हाथापाई पर बोले NCW- महिलाएं राजनीति में आएं लेकिन ऐसा बर्ताव होगा

पार्टी नेत्री नाराज से थीं। शनिवार को मुकुंद भाष्‍कर के स्‍वागत के बाद वह चुनावी रणनीति बनाने के लिए कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रहे थे। इसी दौरान खुद टिकट की दावेदार रहीं नेत्री गुलदस्ता लेकर कार्यालय के अंदर पहुंचीं। आरोप है कि नेत्री ने गुलदस्ता देने के बहाने पार्टी के राष्ट्रीय सचिव सचिन नाइक के साथ हाथापाई की। 

प्रत्‍यक्षदर्शियों के मुताबिक राष्‍ट्रीय सचिव सचिन नायक से हो रही हाथापाई को देखकर पार्टी कार्यकर्ता भड़क गए। उन्‍होंने नेत्री को धक्‍का देकर बैठक से बाहर निकाला। इस दौरान कार्यकर्ताओं और नेत्री के समर्थकों के बीच मारपीट भी हुई। कुल मिलाकर बैठक में काफी देर तक अफरातफरी मची रही। बड़ी मुश्किल से मामला शांत हो पाया। बाद में नेत्री ने कांग्रेस जिलाध्यक्ष समेत चार नामजद और अन्य के खिलाफ मारने-पीटने व छेड़खानी करने का आरोप लगाते हुए कोतवाली में तहरीर दी है।

विधान सभा उप चुनाव को लेकर जिला कांग्रेस कार्यालय पर बैठक कर रहा था। इसी दौरान एक नेत्री गुलदस्ता लेकर आईं और दुर्व्यवहार करने लगीं। यह देख बैठक में मौजूद कांग्रेस जनों ने महिला को कार्यालय से बाहर कर दिया। उनके साथ किसी ने मारपीट नहीं की है।
सचिन नाइक, राष्ट्रीय सचिव, कांग्रेस

नेत्री,सदर विधान सभा उप चुनाव में टिकट मांग रही थी। डेढ़ दर्जन दावेदारों में किसी एक को टिकट मिलना था। इससे नाराज होकर उन्‍होंने शनिवार को राष्‍ट्रीय सचिव के साथ बदसलूकी की। उनके आरोप सरासर गलत हैं। 
धर्मेन्द्र सिंह, जिलाध्यक्ष, कांग्रेस

महिलाएं राजनीति में आए लेकिन ऐसा बर्ताव 

वहीं इस मामले पर राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा कि ‘सुबह मैंने एक वीडियो देखा जिसमें एक महिला को एक राजनीतिक दल बैठक में बुरी तरह मारा गया,हम चाहते हैं कि महिलाएं राजनीति में आए लेकिन ऐसा बर्ताव होगा तो हम कैसे उनको राजनीति में आने के लिए बढ़ावा देंगे।मैं यूपी पुलिस से अपील करती हूं कि सभी को जल्द गिरफ्तार किया जाए।’ इसके अलावा उन्होंने ये वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट में कहा कि-‘मानसिक रूप से ऐसे बीमार लोग कैसे राजनीति में चले आते हैं? इस मामले में संज्ञान ले रही हूं।’





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply