राजनीति में खास रहा ये फ्रेंडशिप-डे, दो धुरंधर बैठे साथ: हरियाणा के 5 बार के CM ओम प्रकाश चौटाला ने बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को लंच पर बुलाया; तीसरा मोर्चे के नेतृत्व का रखा प्रस्ताव


  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Rewari
  • Haryana’s 5 time CM Om Prakash Chautala Invited Bihar Chief Minister Nitish Kumar For Lunch; Proposal For The Leadership Of The Third Front

रेवाड़ी/गुरुग्राम3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

गुरुग्राम में अपने पुराने मित्र ओमप्रकाश चौटाला को शॉल ओढ़ाते बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार।

देश की राजनीति के लिए रविवार का दिन बेहद खास रहा। आज फ्रेंडशिप-डे पर हरियाणा से तीसरे मोर्चे की बिसात बिछनी शुरू हो गई है। इसकी शुरुआत हरियाणा के पूर्व मुख्‍यमंत्री इनेलो प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला ने की है। उन्‍होंने अपने पुराने मित्र बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को लंच पर बुलाया और फिर बंद कमरे में दोनों दिग्‍गजों की चर्चा हुई। सूत्रों की मानें तो चौटाला तीसरे मोर्चे की नीतीश कुमार से कराना चाहते हैं।

जेल से रिहाई के बाद ओपी चौटाला से मिलने पहुंचे जनता दल नेता केसी त्यागी।

जेल से रिहाई के बाद ओपी चौटाला से मिलने पहुंचे जनता दल नेता केसी त्यागी।

दरअसल, जेबीटी (जूनियर बेसिक ट्रेनिंग) टीचर भर्ती घोटाले में सजा पूरी कर चुके हरियाणा के 5 बार के मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला बीते दिनों जब तिहाड़ जेल से बाहर आए तो जनता दल नेता केसी त्यागी उनसे मिलने पहुंचे थे। उस समय चौटाला की बाजू में फ्रैक्चर था। साथ भोजन और बातचीत के करीब दो घंटे में त्यागी ने वहीं फोन पर चौटाला से नीतीश कुमार की बात कराई थी। उसी समय नीतीश कुमार ने चौटाला का भोजन का निमंत्रण स्वीकार कर लिया था।

साथ बैठकर चर्चा करते इनेलो प्रमुख और जनता दल नेता।

साथ बैठकर चर्चा करते इनेलो प्रमुख और जनता दल नेता।

नीतीश कुमार और ओमप्रकाश चौटाला ने मुलाकात का दिन भी बहुत सोच-समझकर रखा। रविवार को फ्रेंडशिप-डे था। नीतीश कुमार अपने पुराने दोस्त के लिए शॉल लेकर आए। नीतीश शॉल ओढ़ाकर उनका सम्मान किया तो चौटाला ने नीतीश कुमार को अपने हाथों से खाना परोसा। इस मौके पर इनेलो के प्रधान महासचिव अभय सिंह चौटाला और उनके पुत्र कर्ण चौटाला भी उपस्थित रहे। नीतीश कुमार की अगुवानी कर्ण ने ही की। हालांकि जजपा के रूप में अलग पार्टी बनाने से पहले यह काम दुष्यंत चौटाला किया करते थे।

ओमप्रकाश से मुलाकात से पहले नीतीश कुमार का स्वागत करते कर्ण चौटाला।

ओमप्रकाश से मुलाकात से पहले नीतीश कुमार का स्वागत करते कर्ण चौटाला।

त्यागी से मिलने के बाद जब चौटाला ने जिस दमखम के साथ यह बयान दिया था कि वे भाजपा व कांग्रेस के विरुद्ध तीसरे मोर्चे का गठन करना चाहते हैं, तभी लग रहा था कि चौटाला कुछ ऐसा करेंगे, जिसके जरिये न केवल इनेलो के काडर बेस कार्यकर्ता को दोबारा पार्टी में पूरी मजबूती के साथ जोड़ा जाए, बल्कि पोते दुष्यंत चौटाला के जननायक जनता पार्टी बनाकर भाजपा के साथ खड़ा होने के फैसले पर भी सवाल उठाए जा सकें।

अपने और पिता के पुराने मित्रों से होगी चौटाला की मुलाकात
चौटाला को अपने पुराने साथियों और ताऊ देवीलाल के मित्रों पर बड़ा भरोसा है। चौटाला हर बार की तरह इस बार भी स्व. देवीलाल की जयंती पर 25 सितंबर को राज्य स्तरीय समारोह का आयोजन करने वाले हैं। यह आयोजन जींद, गुरुग्राम, हिसार या सिरसा में कहीं हो सकता है। माना जा रहा है कि तमाम विपक्षी दलों के नेताओं से मुलाकात के बाद वह इसी जयंती समारोह में तीसरे मोर्चे के गठन का विधिवत ऐलान कर देंगे। ध्यान रहे, इससे पहले उनकी ममता बैनर्जी, अरविंद केजरीवाल, शरद यादव, चंद्रबाबू नायडू, प्रकाश सिंह बादल, सुखबीर बादल, मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव और मायावती के साथ मुलाकात होनी है। तीसरे मोर्चे के गठन का ऐसा ही प्रयास चौटाला के पगड़ी बदल भाई पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री स. प्रकाश सिंह बादल और उनके बेटे सुखबीर सिंह बादल कर रहे हैं। चौटाला चाहते हैं कि इस मोर्चे का नेतृत् नीतीश करें, नीतीश कुमार की तरफ से अभी इस पर कोई फैसला या बयान सामने नहीं आया है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply