रात में खिड़की को थोड़ा खुला छोड़ें, बाथरूम और किचन में लगवाएं एग्जॉस्ट पंखे; घर में हवा की क्वालिटी सुधारने में 3 तरीके करेंगे मदद


  • Hindi News
  • Utility
  • Zaroorat ki khabar
  • Leave The Window A Little Open At Night, Install Exhaust Fans In The Bathroom And Kitchen; Three Ways Will Help Improve The Quality Of Air At Home

4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • सीडीसी की नई गाइडलाइंस के मुताबिक, घर के अंदर हवा में तैर रहे छोटे कणों की वजह से कोरोनावायरस फैल सकता है
  • अगर आपके घर में अच्छा वेंटिलेशन नहीं है तो हेल्थ के अलावा इससे घर की दीवारों को भी नुकसान पहुंचता है

अगर आपके घर में कोई कोरोनावायरस संक्रमित मौजूद है, तो उसके बात करने, गाना गाने या तेज सांस लेने से आप भी संक्रमित हो सकते हैं। फिर भले ही आप 6 सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल ही क्यों न रख रहे हों। ऐसा कहना है अमेरिकी स्वास्थ्य एजेंसी सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन की नई गाइडलाइंस का। एजेंसी की नई सलाह के अनुसार, कोरोनावायरस हवा में तैर रहे वायरस के छोटे कणों से भी फैल सकता है। इस तरह से वायरस फैलने की वजह खराब वेंटिलेशन है।

इससे पहले भी कई एक्सपर्ट्स इनडोर के बजाए आउटडोर को ज्यादा सुरक्षित मानते हैं, क्योंकि यहां हवा का सर्कुलेशन बेहतर होता है। सीडीसी के मुताबिक, वैज्ञानिकों का मानना है कि कोविड 19 मरीज के मुंह से निकले छोटे ड्रॉपलेट्स और कण दूसरों को संक्रमित करने के लिए मजबूत हो जाते हैं। अब जब खराब वेंटिलेशन वायरस फैलने का कारण बन गया है, तो हमें भी घर में हवा के बहाव को लेकर विचार करने की जरूरत है।

वेंटिलेशन का मतलब क्या है?
अमेरिका के एनर्जी विभाग के अनुसार, वेंटिलेशन का मतलब है बाहर की हवा से अंदर की हवा को बदलना। वायरस के अलावा अगर बेहतर वेंटिलेशन नहीं है, तो इससे घर को भी नुकसान पहुंचता है। साथ ही घर में स्टोव से निकलने वाली गैस आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर डाल सकती हैं। होम वेंटिलेशन के तीन तरह के होते हैं।

  1. प्राकृतिक वेंटिलेशन: इस तरह के वेंटिलेशन में हवा अनियंत्रित होकर खिड़की, दरवाजे या दरारों से घर के अंदर आती है। इनडोर हवा को बाहर की ताजा हवा से बदलने का यह सबसे आम तरीका माना जाता है। साथ ही यह तरीका अब भी कई पुराने घरों में इस्तेमाल हो रहा है।
  2. स्पॉट वेंटिलेशन: स्पॉट वेंटिलेशन का इस्तेमाल आमतौर पर दूसरे तरीकों के साथ किया जाता है। इसके अलावा इस तरीके का उपयोग प्राकृतिक वेंटिलेशन को बेहतर बनाने में किया जा सकता है। स्पॉट वेंटिलेशन में नमी और प्रदूषण को हटाने के लिए हवा के बहाव को एग्जॉस्ट पंखों की मदद से कंट्रोल किया जाता है।
  3. होल हाउस वेंटिलेशन: अगर आपके घर में वेंटिलेशन के दोनों ही तरीके काम नहीं आ रहे हैं तो आपको होल हाउस वेंटिलेशन पर विचार करना चाहिए। इसके तहत घर से बासी हवा को बाहर करने और ताजी हवा को अंदर लाने के लिए एक से ज्यादा पंखों और डक्ट सिस्टम का उपयोग किया जा सकता है। होल हाउस वेंटिलेशन पूरे घर में नियंत्रित और एक समान वेंटिलेशन देता है।

परिवार को सुरक्षित रखने के लिए वेंटिलेशन कैसे बढ़ाएं
अमेरिका की एनवायरमेंटल प्रोटेक्शन एजेंसी के मुताबिक, घर के अंदर हवा की क्वालिटी को बेहतर करने का सबसे अच्छा तरीका वेंटिलेशन है। हालांकि, यह उपाय भी हमें कोविड से पूरी तरह बचाने के लिए काफी नहीं है। एजेंसी के अनुसार, अगर घर में वेंटिलेशन को बेहतर बनाना चाहते हैं, तो घर की खिड़कियों को खोल दें और ऐसे एयर कंडीशनर का इस्तेमाल करें, जो बाहर की हवा को अंदर खींचता हो। इसके अलावा अगर मुमकिन हो तो बाथरूम में लगे पंखे का उपयोग करते रहें।

तरीके जो घर में हवा की क्वालिटी को बेहतर बनाएंगे

  • रात में वेंटिलेशन: रात में सोते वक्त खिड़कियों को थोड़ा सा खोलकर सोना फायदेमंद हो सकता है। इससे आपके कमरे में हवा की क्वालिटी सुधरेगी और इसके साथ ही नमी कम होगी। गर्मियों में यह तरीका ह्यूमिडिटी को कम करेगा, लेकिन सर्दियों में इस उपाय को लेकर थोड़ा सतर्क रहें। क्योंकि हो सकता है कि आप वेंटिलेशन के कारण अंदर की गर्म हवा को बाहर कर दें।
  • दीवारों पर वेंट लगाएं: घर में वेंटिलेशन को बेहतर बनाने के एक और तरीका है वेंट लगाना। इसके साथ आप खास वेंटिलेशन के लिए ही बना पंखों का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह तरीका आपको घर में मौजूद नमी और खराब हवा से निजात दिलाएगा। इसके अलावा बाथरूम और किचन में भी वेंटिलेशन का खास ख्याल रखें। इन जगहों पर ही सबसे ज्यादा नमी और खराब हवा तैयार होती है। इन जगहों पर खराब हवा को बाहर करने और ताजी हवा को अंदर लाने में एग्जॉस्ट पंखे मददगार हो सकते हैं।
  • पौधे: घर के अंदर मौजूद बुरी हवा से लड़ने में पौधे बड़ा हथियार साबित हो सकते हैं। इसके अलावा ये घर की खूबसूरती को भी बढ़ाते हैं। घर में मौजूद पंखे अंदर हवा के फ्लो को बेहतर करेंगे और इनके साथ मिलकर पौधे भी हवा की क्वालिटी को सुधारेंगे। ये पौधे घर के अंदर कार्बन डाय ऑक्साइड के स्तर, नुकसान पहुंचाने वाले टॉक्सिन्स को भी कम करेंगे।
  • एयर प्यूरिफायर: अगर आप चाहें तो घर में एयर प्यूरिफायर लगाना बेहतर उपाय हो सकता है। हालांकि, यह थोड़ा खर्चीला है। एक अच्छी डिवाइस आपके घर में मौजूद हवा को बेहतर बना सकती है। जब भी किसी डिवाइस को खरीदने के बारे में सोचें तो पहले थोड़ी रिसर्च जरूर कर लें। एक्सपर्ट्स के ब्लॉग इसमें आपकी मदद करेंगे।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply