लखनऊ डबल मर्डर केस: जिस मां-भाई को करती थी बेइंतहा प्यार, उसी को मार डाला; सकते में है हर शख्स कि ऐसा कैसे हुआ?


Lucknow double murder : सिर्फ पिता आरडी बाजपेयी ही नहीं बल्कि उनकी बेटी को जानने वाला हर शख्स सकते में है कि उसने ऐसा क्यों कर दिया। पूरा परिवार बिटिया को बहुत प्यार करता था। वहीं बेटी भी उस मां और भाई से बेहद प्यार करती थी जिन्हें उसने मौत के घाट उतार दिया। पिता के प्यार का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उन्होंने बिटिया के लिए विकेकानंद मार्ग स्थित रेलवे की कोठी नम्बर-09 के पीछे की तरफ 10 मीटर एयर पिस्टल की शूटिंग रेंज तक तैयार करवा दी थी।

हरफनमौला है बिटिया
आरडी बाजपेयी की बिटिया हरफनमौला है। पढ़ाई में वह मेधावी है। वह बहुत रचनात्मक थी। जब वह कक्षा-7 की पढ़ाई कर रही थी तो एक ख्यातिप्राप्त बुक स्टोर ने बुक मार्क बनाने की एक राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता का आयोजन किया था। इसमें इनकी बिटिया पहले स्थान पर रही। उसे 20 हजार रुपये का नगद पुरस्कार भी मिला था। साथ ही देश भर में इस बुक स्टोर के केंद्रों पर उनके बुकमार्क लोगों को उपलब्ध कराये गए।

 लखनऊ डबल मर्डर : जानिए आखिर ऐसा क्या हुआ कि नेशनल शूटर बेटी ने मां व भाई को गोली से उड़ाया

माता, पिता और भाई को करती है बहुत प्यार
जिस मां और भाई पर गोली चलाकर उन्हें मौत की नींद सुला दिया उन्हें वह बहुत प्यार करती थी। मां से तो इस कदर लगाव था कि उनके बिना वह कहीं नहीं जाती। अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज रुचि सिंह के पिता जेबी सिंह ने  बताया कि .22 की प्रतियोगिताओं की तैयारी वह दिल्ली में कर्णी सिंह शूटिंग रेंज में अभ्यास करती थी। कभी अपनी मां और कभी पिता के साथ कार से आती थी।

ट्रेनिंग के तुरंत वह अपनी मां के गले मिलती थी। मां उसे इनर्जी ड्रिंक देती थीं। प्रतियोगिताओं में भी वह अपनी मां के साथ ही रहती थी। किसी से मिलती-जुलती भी नहीं थी। जेबी सिंह भी इस घटना से स्तब्ध हैं। उन्होंने बताया कि जिसे वह इतना प्यार करती थी उन्हें कैसे मार सकती है।

 

वह जल्दी किसी घुलती मिलती नहीं है
लॉकडाउन के पहले भोपाल में हुई राष्ट्रीय चैंपियनशिप की जूनियर कैटगरी में उसके साथ हिस्सा लेने वाली एक निशानेबाज ने बताया कि वह लोगों से ज्यादा घुलती-मिलती नहीं थी। उसके ज्यादा दोस्त नहीं थी। किसी-किसी से हाय…हेलो हो गई तो हो गई नहीं तो घर से कर्णी सिंह रेंज और वहां से सीधे घर जाती थी।

बंगाल की तरफ से खेलती है
आरडी बाजपेयी की बिटिया अभ्यास दिली और अपने राजधानी स्थित घर पर करती थी। पर निशानेबाजी वह पश्चिम बंगाल की तरफ से करती थीं। वह आसनसोल राइफल क्लब की सदस्य हैं। वह राष्ट्रीय चैंपियनशिप में पश्चिम बंगाल की तरफ से हिस्सा लेती थीं।  बंगाल की राज्य निशानेबाजी में उसने कई बार पदक जीते हैं। वह .22 की 25 मीटर स्पर्धा, 10 मीटर एयर पिस्टल और 25 मीटर एयर  पिस्टल स्पर्धाओं में हिस्सा लेती थीं।
 





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply