लद्दाख में तनाव पर राहुल गांधी बोले- अगर हम सत्ता में होते तो 15 मिनट से भी कम समय में चीन को बाहर फेंक देते


कृषि कानूनों के विरोध में हरियाणा किसान रैली में शामिल हुए राहुल गांधी ने भारत और चीन के बीच बॉर्डर पर तनाव को लेकर भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। हरियाणा में सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने दावा कि ‘पीएम मोदी ने कहा था कि किसी ने भी भारत की जमीन नहीं छीनी है। राहुल गांधी ने कहा कि आज, दुनिया में केवल एक ही देश है जिसकी भूमि दूसरे देश द्वारा ली गई है और पीएम खुद को देशभक्त कहते हैं। अगर हम सत्ता में होते तो 15 मिनट से भी कम समय में चीन को बाहर निकाल फेंकते।’

वहीं, पंजाब के पटियाला में राहुल गांधी ने कहा है कि देश में क्या हो रहा है, इससे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘कोई फर्क नहीं पड़ता है और वह केवल अपनी छवि बचाते हैं। गांधी अपनी तीन दिवसीय खेती बचाओ यात्रा के तहत पंजाब में थे जिस दौरान उन्होंने तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में कई ट्रैक्टर रैलियां कीं। उन्होंने दावा किया कि ये कानून न केवल किसानों बल्कि उपभोक्ताओं को भी प्रभावित करेंगे।

केंद्र ने कहा है कि कानून किसानों के लिए लाभकारी होंगे और उनकी आय बढ़ेगी। उन्होंने दावा किया कि लोगों की आवाज उठाने वाले मीडिया सहित कई संस्थानों को भाजपा नीत केंद्र की सरकार ने कब्जे में कर लिया है। गांधी ने कहा, मुझे स्वतंत्र प्रेस और जो संस्थान स्वतंत्र हैं चाहिए, यह सरकार ज्यादा समय तक नहीं टिकेगी। 

पंजाब में अपनी यात्रा के अंतिम दिन कांग्रेस नेता ने आरोप लगाए कि प्रधानमंत्री इन कृषि कानूनों को नहीं समझते हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री को चुनौती दी कि अगर ये नये कानून कृषक समुदाय के हित में हैं तो वह राज्य में आएं और किसानों के साथ खड़े 

यह भी पढ़ें- ‘कृषि कानूनों की लड़ाई केवल किसानों की नहीं, बल्कि पूरे देश की है’

कांग्रेस नेता ने अपने दावों का सबूत दिए बगैर कहा कि फिर किस तरह से चीन हमारी ”1200 वर्ग किलोमीटर जमीन ले गया। उन्होंने आरोप लगाए, ‘वे भारत माता की बात करते हैं लेकिन नरेन्द्र मोदी ने अपनी छवि बचाने के लिए चीन को भारत माता के 1200 वर्ग किलोमीटर दे दिए। यह हकीकत है। गांधी ने सुझाव दिया कि मीडिया को प्रधानमंत्री को संवाददाता सम्मेलन में बुलाना चाहिए और उनसे खुलकर बात करनी चाहिए।
 





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply