लॉकडाउन के बीच फ्लाइट सर्विस ने पकड़ी रफ्तार, एक सप्ताह में 3370 विमानों ने भरी घरेलू उड़ान


लॉकडाउन के बीच फ्लाइट सर्विस धीरे-धीरे रफ्तार पकड़ने लगी है। 25 मई से अब तक कुल 3370 विमानों ने घरेलू उड़ान भरी है। यह जानकारी केंद्रीय नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने सोमवार को दी। उन्होंने कहा बताया कि 25 से 31 मई तक देशभर में 3,370 घरेलू विमानों ने उड़ान भरी। 31 मई को कुल 501 घरेलू उड़ानों का संचालन किया गया।

कोरोना वायरस संक्रमण को काबू करने के लिए लागू लॉकडाउन की वजह से देश में घरेलू विमान सेवाएं निलंबित कर दी गई थीं और दो महीने तक बंद रहने के बाद इन्हें 25 मई को बहाल किया गया।

भारतीय विमानन कंपनियों ने 31 मई तक 3,370 उड़ानों का संचालन किया। इनमें 25 मई को 428, 26 मई को 445, 27 मई को 460, 28 मई को 494, 29 मई को 513 और 30 मई को 529 उड़ानें संचालित की गईं। हरदीप सिंह पुरी ने सोमवार को ट्वीट कर बताया कि 31 मई को देर रात 11 बजकर 59 मिनट तक 501 विमानों ने प्रस्थान किया, जिनमें 44,593 यात्रियों ने उड़ान भरी। कुल 502 उड़ानों का आगमन हुआ, जिनमें 44,678 लोगों ने यात्रा की।

विमानन उद्योग के सूत्रों के मुताबिक, लॉकडाउन से पहले भारतीय हवाई अड्डों से लगभग 3,000 दैनिक घरेलू उड़ानों का संचालन होता था। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय के आंकड़ों के हिसाब से बीती फरवरी में लगभग 4.12 लाख यात्रियों ने घरेलू यात्रा की।

पांच राज्यों ने दैनिक उड़ानों की संख्या सीमित की
पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, तेलंगाना और तमिलनाडु ने हवाई अड्डों को सीमित संख्या में दैनिक उड़ानों के संचालन की अनुमति दी है क्योंकि ये राज्य नहीं चाहते हैं कि कोविड-19 मामलों की बढ़ती संख्या के बीच राज्य में यात्रियों की भारी आवागमन हो। आंध्र प्रदेश में घरेलू उड़ान सेवाएं मंगलवार को शुरू हुईं जबकि पश्चिम बंगाल में गुरुवार से इसका पुन: संचालन शुरू हो गया।





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply