शाजापुर में कुआं खोद रहे 4 मजदूरों की 30 फीट मलबे में दबने से मौत, 15 घंटे तक चलता रहा रेस्क्यू ऑपरेशन


  • शाजापुर के बिजनाखेड़ी गांव में मंगलवार शाम 6 बजे मजदूर कुएं की दीवार धंसने से मलबे में दब गए थे
  • बुधवार सुबह 10.30 बजे तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलता रहा, 600 ट्राली मिट्टी निकाली गई

दैनिक भास्कर

Jun 10, 2020, 07:27 PM IST

शाजापुर. बिजनाखेड़ी गांव में कुआं खोदने के दौरान चार मजदूर दीवार धंसने से 30 फीट मलबे में दब गए थे। यह घटना मंगलवार शाम 6 बजे हुई। करीब 15 घंटे तक मजदूरों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया। लेकिन, मजदूरों की जान नहीं बचाई जा सकी। 

रेस्क्यू टीम ने 6 जेसीबी और दो पोकलेन मशीन के साथ लगातार मलबे काे हटाने का काम किया। मजदूराें काे बाहर निकालने के लिए कुएं के पास में एक गड्ढा भी खाेदा गया। बारिश के चलते रेस्क्यू में दिक्कत भी आई। आखिरकार मजदूरों की जान नहीं बच सकी। बुधवार सुबह 10.30 बजे चारों के शव बाहर निकाले गए।

मंगलवार रात 8 बजे से बुधवार सुबह साढ़े दस बजे तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया।
शाजापुर में कुआं खोद रहे 4 मजदूरों की 30 फीट मलबे में दबने से मौत, 15 घंटे तक चलता रहा रेस्क्यू ऑपरेशन
मलबा हटाने के साथ ही पास में एक और गड्‌ढा खोदा गया ताकि मजदूरों को सकुशल बाहर निकाला जा सके।
शाजापुर में कुआं खोद रहे 4 मजदूरों की 30 फीट मलबे में दबने से मौत, 15 घंटे तक चलता रहा रेस्क्यू ऑपरेशन
कुआं खोदते वक्त मंगलवार शाम 6 बजे दीवार धंसने से मजदूर दब गए थे।

बिजनाखेड़ी के कालूसिंह सोंधिया के कुएं में खुदाई का काम चल रहा था। 40 फीट गहरे इस कुएं का ऊपरी हिस्सा आरसीसी का था। लीलाबाई (35), शकुबाई(25), भूरीबाई (20) और रामलाल खुदाई का काम कर रहे थे। इसी दौरान कांक्रीट की दीवार का मलबा गिर गया, जिसमें चारों मजदूर दब गए।

घटना के बाद बड़ी संख्या में ग्रामीण माैके पर जमा हाे गए। रेस्क्यू टीम के अलावा शाजापुर कलेक्टर दिनेश जैन और एसपी पंकज श्रीवास्तव दूसरे अधिकारियों के साथ हादसे वाली जगह पर पहुंचे।

शाजापुर में कुआं खोद रहे 4 मजदूरों की 30 फीट मलबे में दबने से मौत, 15 घंटे तक चलता रहा रेस्क्यू ऑपरेशन
हादसे के बाद सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण मौके पर जमा हो गए। 

रात करीब पौने 9 बजे जेसीबी की मदद से खुदाई शुरू हुई

रेस्क्यू टीम के पहुंचने से पहले ग्रामीणों ने ही करीब ढाई घंटे तक मलबा निकालने का काम किया। रात करीब 8.45 बजे तीन जेसीबी, एक पोकलेन और एक क्रेन की मदद से रेस्क्यू ऑपरेशन तेज किया गया। सुबह करीब साढ़े 10 बजे टीम मजदूरों तक तो पहुंची, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी।

शाजापुर में कुआं खोद रहे 4 मजदूरों की 30 फीट मलबे में दबने से मौत, 15 घंटे तक चलता रहा रेस्क्यू ऑपरेशन
करीब 600 ट्राली मिट्टी निकालने के बाद रेस्क्यू टीम को मजदूरों के शव मिले।

60-70 फीट नीचे दबे थे मजदूर
कलेक्टर दिनेश जैन ने बताया कि मजदूर करीब 60-70 फीट नीचे दबे थे, उनके ऊपर 30 फीट मलबा था। बचाव टीम 600 ट्रॉली मिट्‌टी निकालने के बाद मजदूरों तक पहुंच पाई। कुआं मालिक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply