सितंबर में इक्विटी म्यूचुअल फंड से निवेशकों ने निकाला पैसा, लिक्विड फंड से निकाला गया 65 हजार करोड़ रुपए


  • Hindi News
  • Business
  • Mutual Funds | Investors Withdraw Money From Equity Mutual Fund In September 2020

मुंबई20 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

लॉर्ज कैप, मिड कैप, फोकस्ड फंड्स और ईएलएसएस से पैसे निकाले गए हैं। यह जानकारी एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एंफी) ने दी

  • क्रेडिट रिस्क फंड से 539 करोड़ रुपए, गिल्ट फंड से 483 करोड़ रुपए निकाले गए हैं
  • डायनॉमिक बांड फंड में 651 करोड़, बैंकिंग एंड पीएसयू फंड में 6,415 करोड़ का निवेश हुआ

निवेशकों ने सितंबर महीने में इक्विटी म्यूचुअल फंड से पैसे निकाले हैं। इसमें मल्टीकैप स्कीम से सबसे ज्यादा राशि निकाली गई है। इस स्कीम से 1,143.86 करोड़ रुपए की निकासी की गई है। लिक्विड फंड से 65 हजार करोड़ की निकासी की गई है। जबकि लॉर्ज कैप, मिड कैप, फोकस्ड फंड्स और ईएलएसएस से भी पैसे निकाले गए हैं। यह जानकारी एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एंफी) ने दी। एंफी ने गुरुवार को म्यूचुअल फंड का आंकड़ा जारी किया।

ईएलएसएस से पहली बार पैसा निकाला गया

एंफी के मुताबिक, चालू वित्त वर्ष में यह पहली बार हुआ है जब निवेशकों ने ईएलएसएस स्कीम से पैसे निकाले हैं। इस स्कीम से 38.87 करोड़ रुपए की निकासी की गई है। यह स्कीम मुख्य रूप से टैक्स बचाने के लिए है जिसमें निवेश किया जाता है। इक्विटी सेगमेंट में सबसे ज्यादा बढ़त वाला फोकस्ड फंड्स, लॉर्ज और मिड कैप फंड रहा है। दिलचस्प यह है कि स्माल कैप में निवेशकों ने 132.91 करोड़ रुपए सितंबर में निवेश किया है।

लॉर्ज कैप फंड में 576 करोड़ का निवेश

आंकड़ों के मुताबिक लॉर्ज कैप फंड से सितंबर महीने में 576 करोड़ रुपए निवेशकों ने निकाले हैं। जबकि मिड कैप फंड से 67.61 करोड़ रुपए निकाले गए हैं। डिविडेंड यील्ड से 9.83 करोड़ रुपए निकाला गया है। वैल्यू फंड से 488 करोड़ रुपए निकाले गए हैं। हालांकि फोकस्ड फंड में निवेशकों ने 823 करोड़ रुपए का निवेश किया है।

ओवरनाइट फंड में 4,188 करोड़ का निवेश

आंकड़े बताते हैं कि ओवरनाइड फंड में 4,188 करोड़ रुपए, लो ड्यूरेशन फंड में 1,817 करोड़ रुपए, शॉर्ट ड्यूरेशन फंड में 3,853, मीडियम ड्यूरेशन फंड में 1,304 करोड़ और मीडियम से लांग ड्यूरेशन में 608 करोड़ रुपए का निवेश किया गया है। लिक्विड फंड से 65,951 करोड़ रुपए की भारी भरकम राशि की निकासी की गई है।

अल्ट्रा शॉर्ट ड्यूरेशन में 4,867 करोड़ का निवेश

इसी तरह अल्ट्रा शॉर्ट ड्यूरेशन फंड से 4,867 करोड़ रुपए, मनी मार्केट फंड से 4,856 करोड़ रुपए और लांग ड्यूरेशन फंड से 34 करोड़ रुपए की निकासी की गई है। डायनॉमिक बांड फंड में 651 करोड़ कॉर्पोरेट बांड फंड में 716 करोड़, बैंकिंग एंड पीएसयू फंड में 6,415 करोड़ और फ्लोटर फंड में 5,199 करोड़ रुपए निवेश किए गए हैं।

मल्टी असेट अलोकेशन मेें मिलाजुला रुझान

आंकड़ों के मुताबिक, मल्टी असेट अलोकेशन और डेट फंड में मिला जुला रुझान रहा है। क्रेडिट रिस्क फंड से 539 करोड़ रुपए, गिल्ट फंड से 483 करोड़ बैलेंस्ड फंड से 2,004 करोड़ रुपए, डायनॉमिक असेट अलोकेशन फंड से 243 करोड़ रुपए और आर्बिट्रेज फंड से 1,732 तथा इक्विटी सेविंग्स से 328 करोड़ रुपए निकाला गया है।

गोल्ड ईटीएफ से कोई निकासी नहीं

गोल्ड ईटीएफ सेगमेंट में हालांकि कोई कमी फंड में नहीं देखी गई है। इंडेक्स फंड में जहां 397 करोड़ रुपए का निवेश किया गया है, गोल्ड ईटीएफ फंड में 597 करोड़ रुपए, अन्य ईटीएफ में 3,515 करोड़ रुपए और फंड ऑफ फंड्स में 1,520 करोड़ रुपए का फंड आया है।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply