हमारा अगला स्टॉप यूपी है, बीजेपी को उसके गढ़ में लगाएंगे किनारे, किसान प्रदर्शनकारियों ने किया ऐलान


केंद्र सरकार के लाए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने गुरुवार को दिल्ली के जंतर-मंतर पर फिर से धरने की शुरुआत की है। हालांकि, किसानों ने अब ऐलान किया है कि उनका अगला स्टॉप उत्तर प्रदेश है, जहां प्रदर्शनकारियों ने बीजेपी को ‘अलग-थलग’ करने की योजना बनाई है। प्रदर्शनकारी किसान एक बार फिर से कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग के साथ उत्तर प्रदेश में व्यापक विरोध प्रदर्शन की तैयारी कर रहे हैं। बता दें कि अगले साल उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं।

सिंघु बॉर्डर पर मौजूद किसान नेता प्रेम सिंह भांगु ने कहा, ‘हमारा अगला स्टॉप उत्तर प्रदेश है, जो बीजेपी का गढ़ है। हम बीजेपी को पूरी तरह अलग-थलग कर देंगे।’ समाचार एजेंसी एएनआई से भागु ने कहा, ‘हम बातचीत के लिए तैयार हैं, लेकिन कृषि कानूनों को वापस लेने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है।’

बता दें कि किसानों ने अभी तक सरकार से 11 दौर की वार्ताएं की हैं लेकिन कोई हल नहीं निका। हालांकि, अब लंबे समय से यह वार्ता रुकी हुई है। 

सैकड़ों की संख्या में किसान दिल्ली के सिंघु, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डरों पर बीते साल नवंबर से ही तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। किसान इन तीनों कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं।

आंदोलनकारी किसानों ने आज से दिल्ली के जंतर-मंतर पर भी प्रदर्शन का ऐलान किया है। आज से हर रोज 200 किसान जंतर-मंतर पर धरना प्रदर्शन करेंगे। किसानों ने ऐलान किया है कि यह धरना संसद की कार्यवाही की तर्ज भी चलेगा, जिसमें रोज स्पीकर और डिप्टी स्पीकर चुने जाएंगे और बिलों पर चर्चा होगी। किसानों की यह संसद 13 अगस्त यानी संसद के मॉनसून सत्र के आखिरी दिन तक चलेगी।





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply