हयात बलूच की हत्या के खिलाफ जर्मनी के हैम्बर्ग में फ्री बलूचिस्तान मूवमेंट का प्रदर्शन


फ्री बलूचिस्तान मूवमेंट ने 5 सितंबर को हयात बलूच की हत्या के खिलाफ जर्मनी के हैम्बर्ग में एक प्रदर्शन और विरोध रैली का आयोजन किया। इससे पहले बलूचिस्तान की आजादी के समर्थक नेता डॉ. अल्लाह निजार बलूच ने दावा किया था कि पाकिस्तानी सेना ने बलूचिस्तान में पिछले कुछ सालों में हजारों छात्रों की हत्या की है। कई छात्रों को गुप्त यातनागृहों में रखा गया है।

डॉ. निजार ने कहा कि पाकिस्तान हमारी पहचान, संस्कृति और भाषा को पूरी तरह खत्म करना चाहता है। बलूचिस्तान में लाहौर और कराची में प्रकाशित पुस्तकों को लाना प्रतिबंधित है। सेना ने केच जिले और अन्य स्थानों की दुकानों से बलोच भाषा की किताबें जब्त कर ली हैं। यह साफ संकेत है कि पाकिस्तान बलोच लोगों को शिक्षा से दूर रखने की साजिश रच रहा है।

गौरतलब है कि स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले कराची यूनिवर्सिटी का छात्र हयात बलोच  अपने घर के बगीचे से दहश्तगर्दी के संदेह में सड़क पर घसीट लिया गया और एफसी (Frontier Corps) ने उसके हाथ-पांव बांधकर उसके मां-बाप की आंखों के सामने हयात बलोच के शरीर में लगभग आठ गोलियां उतार दीं।





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply