हाथरस घटना पर प्रदर्शन के चलते बंद किए गए जनपथ, राजीव चौक, पटेल चौक के एग्जिट गेट खोले गए


हाथरस की घटना को लेकर दिल्ली के जंतर-मंतर पर शुक्रवार की शाम वामदलों और भीम आर्मी सेना की तरफ से प्रदर्शन के चलते बंद किए गए दिल्ली के मेट्रो स्टेशनों के प्रवेश और निकासी द्वार को दोबारा खोल दिया गया है। इससे पहले, भारी संख्या में प्रदर्शनकारियों के जुटने की वजह से जहां कुछ जगहों पर ट्रैफिक को रोका गया तो वहीं जनपथ मेट्रो स्टेशन के प्रवेश और निकासी गेट को बंद किया गया था।

दिल्ली मेट्रो ने कहा था कि मुताबिक, जनपथ पर ट्रेनें नहीं रूकेंगी। जबकि राजीव चौक और पटेल चौक के एग्जिट गेट को बंद कर दिया गया है।

प्रदर्शनकारियों के एकजुट होने के चलते कनॉट प्लेस में ट्रैफिक पर भी असर देखने को मिला। पंचकुईंया रोड पर रामकृष्ण आश्रम से आ रहे ट्रैफिक को मंदिर मार्ग की तरफ मुड़ने की इजाजत नहीं दी गई थी। गाड़ियां रामकृष्ण आश्रण के क्रॉसिंग पर दाएं मुड़ दिया गया था।

ये भी पढ़ें: हाथरस कांड पर योगी से बोलीं उमा भारती- हमने रामराज्य का दावा किया…

जंतर मंतर पर प्रदर्शन में हिस्सा लेने पहुंचे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस मुद्दे पर राजनीतिक ठीक नहीं है। क्यों ऐसी घटनाएं दिल्ली, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, मुंबई राजस्थान में होती हैं? देश में कहीं भी रेप की घटनाएं नहीं होनी चाहिए। 

दिल्ली सीएम ने कहा कि पूरा देश चाहता है कि दोषियों को कड़ी सजा दी जाए। कुछ लोगों का ऐसा मानना है कि बचाने का प्रयास किया जा रहा है। इस वक्त पीड़िता के परिवार को हरसंभव मदद की जरूरत है। 

हाथरस घटना को लेकर जहां पुलिस पर सवाल उठ रहे सवालों के बीच जंतर-मंतर पर प्रदर्शन में हिस्सा लेने पहुंचे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने कहा कि वे हाथरस जाएंगे।  चंद्रशेखर ने कहा- हमारा संघर्ष तब तक जारी रहेगा जब तक उत्तर प्रदेश के मुख्यंमत्री इस्तीफा नहीं दे देते हैं और इंसाफ नहीं मिल जाता है। मै सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध करता हूं कि वे पूरे मामले में स्वत: संज्ञान लें।

गौरतलब है कि 14 सितंबर को हाथरस की दलित युवती के साथ गैंगरेप हुआ था। ऐसा आरोप है कि गैंगरेप के बाद आरोपियों ने युवती की जीभ काट दी थी और रीढ़ की हड्डी तोड़ दी थी। पीड़िता की हालत बेहद खराब होने के बाद उसे इलाज के लिए उन्हें दिल्ली ले जाया गया। लेकिन मंगलवार की सुबह पीड़िता ने सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। उत्तर प्रदेश की पुलिस पर मामले में लीपापोती का आरोप लगा है।





Source link

Be the first to comment

Leave a Reply