119 अंक ऊपर खुला डाउ जोंस, राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने एच-1बी वीजा नियम बदले, इससे सबसे ज्यादा असर भारतीय आईटी प्रोफेशनल्स पर पड़ेगा


  • Hindi News
  • Business
  • Dow Jones Live| Dow Jones Opens Up 119 Points, Trump Administration Changes H 1B Visa Rules Just Before Presidential Election, It Will Affect Indian IT Professionals The Most

न्यूयॉर्क25 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

नैस्डैक 0.66 फीसदी की बढ़त के साथ 75 अंक ऊपर और एसएंडपी 0.50 फीसदी की बढ़त के साथ 17 अंक ऊपर खुला।

  • बाजार खुलते समय डाउ जोंस 28422, नैस्डैक 11578 और एसएंडपी 3436 अंक पर कारोबार कर रहे थे।
  • बुधवार को डाउ जोंस 1.19 फीसदी यानी 530 अंक की बढ़त के साथ 28303 अंक पर बंद हुआ था।

गुरुवार को डाउ जोंस 0.42 फीसदी की बढ़त के साथ 119 अंक ऊपर खुला। नैस्डैक 0.66 फीसदी की बढ़त के साथ 75 अंक ऊपर और एसएंडपी 0.50 फीसदी की बढ़त के साथ 17 अंक ऊपर खुला। बाजार खुलते समय डाउ जोंस 28422, नैस्डैक 11578 और एसएंडपी 3436 अंक पर कारोबार कर रहे थे।

गुरुवार को दुनियाभर के ज्यादातर बाजारों में बढ़त रही। जापान का नेक्कई 224 अंक, भारत का निफ्टी 95 अंक और कोरिया का कोस्पी 5 अंक की बढ़त के साथ बंद हुए। चीन का शंघाई कम्पोसिट 6 अंक और हॉन्गकॉन्ग का हैंग सैंग 49 अंक नीचे गिरकर बंद हुए। वहीं, इस समय मैक्सिको का IPC, यूके का FTSE, फ्रांस का CAC, जर्मनी का DAX और रूस का MICEX सभी बढ़त में कारोबार कर रहे हैं।

119 अंक ऊपर खुला डाउ जोंस, राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने एच-1बी वीजा नियम बदले, इससे सबसे ज्यादा असर भारतीय आईटी प्रोफेशनल्स पर पड़ेगा
इस समय मैक्सिको का IPC, यूके का FTSE, फ्रांस का CAC, जर्मनी का DAX और रूस का MICEX सभी बढ़त में कारोबार कर रहे हैं।

इस समय मैक्सिको का IPC, यूके का FTSE, फ्रांस का CAC, जर्मनी का DAX और रूस का MICEX सभी बढ़त में कारोबार कर रहे हैं।

बुधवार को बढ़त के साथ बंद हुआ था डाउ जोंस
बुधवार को डाउ जोंस 1.19 फीसदी यानी 530 अंक की बढ़त के साथ 28303 अंक पर बंद हुआ था। नैस्डैक 1.88 फीसदी यानी 211 अंक की बढ़त के साथ 11503 अंक पर और एसएंडपी 1.74 फीसदी यानी 58 अंक की बढ़त के साथ 3419 अंक पर बंद हुआ था।

119 अंक ऊपर खुला डाउ जोंस, राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने एच-1बी वीजा नियम बदले, इससे सबसे ज्यादा असर भारतीय आईटी प्रोफेशनल्स पर पड़ेगा

अमेरिका: कोरोना से मौतों का आंकड़ा दो लाख 16 हजार के पार
worldometers वेबसाइट के मुताबिक, गुरुवार को अमेरिका में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 77 लाख 80 हजार 586 पर पहुंच गया। देश में अब तक 2 लाख 16 हजार 889 मौतें हो चुकी हैं जबकि 49 लाख 84 हजार 528 लोग ठीक हो चुके हैं। दुनिया में कोरोनावायरस संक्रमण के अब तक 3 करोड़ 64 लाख 66 हजार 595 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 2 करोड़ 74 लाख 52 हजार 393 मरीज ठीक हो चुके हैं। 10 लाख 61 हजार 724 लोगों की मौत हो चुकी है।

अमेरिका में चुनावी ट्रम्प कार्ड

डोनाल्ड ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने चुनाव से ठीक पहले एच-1बी वीजा नियम सख्त कर दिए हैं। भारत के आईटी प्रोफेशनल्स पर इसका असर पड़ना तय माना जा रहा है। (फाइल)

डोनाल्ड ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने चुनाव से ठीक पहले एच-1बी वीजा नियम सख्त कर दिए हैं। भारत के आईटी प्रोफेशनल्स पर इसका असर पड़ना तय माना जा रहा है। (फाइल)

  • अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले ट्रम्प प्रशासन ने एच-1बी वीजा को लेकर सख्त कदम उठाया है। ट्रम्प प्रशासन ने एच-1बी वीजा में कटौती और वेतन आधारित प्रवेश नियमों को सख्त कर दिया है। इस फैसले का सबसे ज्यादा असर भारत के आईटी प्रोफेशनल्स पर पड़ेगा, क्योंकि हाल के सालों में एच-1बी वीजा की 70% तक की हिस्सेदारी भारतीयों की रही है।
  • डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्युरिटी (डीएचएस) के कार्यकारी उप सचिव केन कुकसिनेली ने कहा- ‘जिन लोगों ने एच-1बी वीजा के लिए आवेदन किया है, उनमें से एक तिहाई को नए नियमों के तहत वीजा नहीं मिल सकेगा।’ न्यूनतम वेतन आवश्यकताओं के लिए श्रम विभाग के संशोधन गुरुवार से प्रभावी होने के आसार हैं। डीएचएस का एच-1बी संशोधन भी 60 दिनों में लागू हो जाएगा।

अगर नौकरी छूट जाए तो 60 दिनों में नई तलाशनी होगी
अगर किसी एच-1बी वीजा होल्डर की कंपनी ने उसका कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर लिया है, तो नए नियमों के अनुसार वीजा स्टेटस बनाए रखने के लिए उसे 60 दिनों के अंदर नई नौकरी तलाशनी होगा। वरना उसे अपने देश लौटना पड़ेगा।

बढ़त के साथ बंद हुआ भारतीय बाजार

लगातार छह सत्रों की बढ़त से निवेशकों को 6 लाख करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है।

लगातार छह सत्रों की बढ़त से निवेशकों को 6 लाख करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है।

  • मजबूत ग्लोबल संकेतों के चलते बीएसई सेंसेक्स 303.72 अंक ऊपर 40,182.67 पर और निफ्टी 95.75 अंक ऊपर 11,834.60 के स्तर पर बंद हुआ। बाजार में आईटी और बैंकिंग शेयरों में भी अच्छी बढ़त देखने को मिली। निफ्टी आईटी इंडेक्स 680 और बैंकिंग इंडेक्स 226 अंकों की बढ़त के साथ बंद हुए।
  • निफ्टी में विप्रो का शेयर 7% ऊपर बंद हुआ। इसके अलावा सिप्ला के शेयर में भी 5% की बढ़त रही। जबकि सरकारी कंपनियों गेल और ओएनजीसी के शेयरों में क्रमश: 3 और 2 फीसदी की गिरावट रही। सुबह बीएसई सेंसेक्स 325.37 अंक ऊपर 40,204.32 पर और निफ्टी 96.55 अंक ऊपर 11,835.40 के स्तर पर खुला था।

निवेशकों को हुआ 6 लाख करोड़ रुपए का फायदा
लगातार छह सत्रों की बढ़त से निवेशकों को 6 लाख करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है। इस दौरान बीएसई 2208 अंक बढ़कर गुरुवार को 40,182 के स्तर पर बंद हुआ है। वहीं निफ्टी भी 11,834 के स्तर पर बंद हुआ है, जो इसका 7 महीनों का उच्चतम स्तर है।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply