EPFO ; PF ; corona crisis ; COVID-19 ; CORONA ; coronavirus ; In Corona era, EPFO settled 46 lakh claims of PF clearance related to Kovid-19, 920 crore rupees in accounts. | कोरोना काल में EPFO ने कोविड-19 से संबंधित PF निकासी के 46 लाख दावों को निपटाया, 920 करोड़ रुपए खतों में पहुंचाए


  • Hindi News
  • Utility
  • EPFO ; PF ; Corona Crisis ; COVID 19 ; CORONA ; Coronavirus ; In Corona Era, EPFO Settled 46 Lakh Claims Of PF Clearance Related To Kovid 19, 920 Crore Rupees In Accounts.

नई दिल्ली27 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सरकार ने 30 जून तक उनके जमा की एडवांस निकासी की सुविधा दी थी

  • दिल्ली पश्चिम ऑफिस में सबसे ज्यादा दावे मिले थे
  • ईपीएफओ ने बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी है

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने अपने ग्राहकों को कोविड-19 के कारण आ रही मुश्किलों से निपटने के लिए 46 लाख निकासी दावों का निपटान किया है। इसके तहत संगठन ने 920 करोड़ रुपए वितरित किए हैं। ईपीएफओ ने शुक्रवार को जारी बयान में कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (पीएमजीकेवाई) के तहत सरकार ने एक कोविड -19 की संकटपूर्ण स्थिति में वापसी नहीं करने वाली अग्रिम भुगतान योजना का प्रावधान किया। यह योजना अप्रैल में शुरू हुई थी।

क्या थी योजना?
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने हाल में करीब 8 करोड़ ईपीएफ खाताधारकों को राहत देते हुए उनके जमा की एडवांस निकासी की सुविधा दी थी। ईपीएफओ ने इसके लिए ईपीएफ स्कीम-1952 में बदलाव करते हुए यह कहा था कि कर्मचारी अपने खाते में जमा रकम का 75 फीसदी या तीन महीने के वेतन के बराबर रकम निकाल सकते हैं। इस रकम का इस्तेमाल कर्मचारी अपनी जरूरतों के लिए कर सकते हैं और इसे फिर से जमा करने की जरूरत नहीं होगी। सरकार ने 30 जून तक उनके जमा की एडवांस निकासी की सुविधा दी थी।

दिल्ली पश्चिम ऑफिस में मिले सबसे ज्यादा दावे
ईपीएफओ के बयान के अनुसार दिल्ली पश्चिम के क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त उत्तम प्रकाश ने कहा कि ईपीएफओ का दिल्ली पश्चिम कार्यालय देश में सबसे अधिक दावों को प्राप्त करने वाला कार्यालय रहा। ईपीएफओ दिल्ली पश्चिम कार्यालय ने 155 करोड़ रुपए के करीब एक लाख कोविड- 19 दावों का निपटारा किया।

कोरोना के कारण नए सब्सक्राइबर्स की संख्या में आई गिरावट
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के अनुसार जून महीने में 6.55 लाख नए रजिस्ट्रेशन हुए। इससे पहले मई महीने में EPFO में 3.18 लाख नए रजिस्ट्रेशन हुए थे। अप्रैल महीने में महज 1.33 लाख नए रजिस्ट्रेशन हुए थे। इस साल मार्च में नए रजिस्ट्रेशन घटकर 5.72 लाख रह गई थी। वहीं लॉकडाउन लगने से पहले फरवरी 2020 में 10.21 लाख नए लोग ईपीएफ सदस्यों में जुड़े थे। कोरोनावायरस महामारी की वजह से लागू लॉकडाउन के कारण इसमें गिरावट आई है। EPFO में रजिस्ट्रेशन के आंकड़े संगठित क्षेत्र में रोजगार की स्थिति को बताता है।

0



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply