Formers cricketers on MS Dhoni Retirement| Pakistan Coach Misbah-ul-Haq said MS Dhoni had ‘changed the whole face of Indian cricket’ | पाकिस्तान के कोच मिस्बाह उल हक ने कहा- धोनी ने भारतीय क्रिकेट का पूरा चेहरा बदल डाला, नासिर हुसैन बोले- वे व्हाइट बॉल क्रिकेट के बेस्ट कप्तान


  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Formers Cricketers On MS Dhoni Retirement| Pakistan Coach Misbah ul Haq Said MS Dhoni Had “changed The Whole Face Of Indian Cricket”

25 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान मिस्बाह-उल-हक ने कहा- सौरव गांगुली ने भारतीय क्रिकेट को जहां छोड़ा था, महेंद्र सिंह धोनी वहां से टीम को नई बुलंदियों पर ले गए। – फाइल

  • मिस्बाह उल हक ने कहा-धोनी बाहर से जितने शांत कप्तान थे, अंदर से उतने ही आक्रामक खिलाड़ी थे
  • इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन के मुताबिक, धोनी दबाव में बहुत शांत रहे थे, बतौर कप्तान उनकी कामयाबी का यही राज है

पाकिस्तान के कोच मिस्बाह-उल-हक ने पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के रिटायरमेंट पर कहा कि उन्होंने भारतीय क्रिकेट का पूरा चेहरा ही बदल डाला। धोनी की बदौलत ही टीम इंडिया टी-20, वनडे वर्ल्ड कप जीतने में कामयाब रही। उधर, इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने धोनी को व्हाइट बॉल क्रिकेट में दुनिया का सबसे बेस्ट कप्तान बताया है।

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान मिस्बाह ने आगे कहा कि वह बाहर से जितने शांत कप्तान थे, लेकिन अंदर से उतने ही आक्रामक खिलाड़ी थे। वे कप्तान के तौर पर बहुत चालाक थे। उन्होंने मौका पड़ने पर सीनियर्स खिलाड़ियों को ड्रॉप किया और युवाओं को मौका देकर नई टीम बनाई। उन्होंने भारतीय क्रिकेट का पूरा कल्चर बदल दिया। इसका नतीजा रहा कि वे बतौर कप्तान इतने सफल रहे।

धोनी टीम इंडिया को नई बुलंदियों पर ले गए: मिस्बाह

उन्होंने आगे कहा कि सौरव गांगुली ने भारतीय क्रिकेट को जहां छोड़ा था, धोनी वहां से उसे नई बुलंदियों तक लेकर गए। धोनी ने भारतीय क्रिकेट के लिए कमाल किया। वे शानदार इंसान और बेहतरीन कप्तान के तौर पर याद किए जाएंगे।

धोनी ने खुद को एक बल्लेबाज से मैच फिनिशर में बदला: नासिर हुसैन

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने धोनी के संन्यास पर कहा कि वे व्हाइट बॉल क्रिकेट के अब तक सबसे बेस्ट कप्तान हैं। उन्होंने एक बल्लेबाज से खुद को मैच फिनिशर के रूप में तब्दील किया। 2011 वर्ल्ड कप का श्रीलंका के खिलाफ फाइनल में सिक्स लगाकर भारत को जीत दिलाना, आज भी लोगों को याद है। वे दबाव में भी शांत रहते हैं, इसलिए इतने बड़े कप्तान और खिलाड़ी बने।

धोनी ने सबसे ज्यादा 332 इंटरनेशनल मैचों में कप्तानी की

धोनी ने 332 इंटरनेशनल मैचों में कप्तानी की। कोई खिलाड़ी बतौर कप्तान इससे ज्यादा मैच नहीं खेला। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग और न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान स्टीफन फ्लेमिंग ने भी तीन सौ से अधिक मैचों में कप्तानी की। लेकिन दोनों धोनी से पीछे हैं। पोटिंग ने 324, तो फ्लेमिंग ने 303 मैच बतौर कप्तान खेले।

0



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply