Ministry of Coal will auction 38 mines instead of 41 for commercial mining | कोयला मंत्रालय 38 खदानों की नीलामी करेगा, इससे पहले कमर्शियल माइनिंग के लिए 41 खदानों की लिस्ट जारी हुई थी


  • Hindi News
  • Business
  • Ministry Of Coal Will Auction 38 Mines Instead Of 41 For Commercial Mining

नई दिल्ली26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कोयला मंत्रालय ने पहले सीएम(एसपी) एक्ट-2015 के तहत नीलामी के 11वें राउंड और माइंस एंड मिनरल्स (डेवलपमेंट एंड रेगुलेशन) एक्ट-1957 के तहत नीलामी के पहले राउंड के तहत कमर्शियल माइनिंग के लिए 41 खदानों की लिस्ट जारी की थी

  • पुरानी लिस्ट में 3 ब्लॉक- डोलेसारा, जारेकेला और झारपालम-तनगरघाट जोड़े गए हैं
  • 5 ब्लॉक- मोर्गा साउथ, फतेहपुर, मदनपुर (नॉर्थ), मोर्गा-2 और सायंग (छत्तीसगढ़) हटाए गए हैं
  • एक ब्लॉक- बांदर खदान को पहले ही हटा दिया था, क्योंकि वह पर्यावरण के नजरिए से संवेदनशील जोन में है

कोयला मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि उसने कमर्शियल माइनिंग के लिए नीलाम की जाने वाली कोयला खदानों की लिस्ट में संशोधन किया है। नई लिस्ट के मुताबिक अब 38 खदानों की नीलामी होगी। मंत्रालय ने पहले 41 खदानों को नीलाम करने की घोषणा की थी।

संशोधन के तहत लिस्ट में 3 ब्लॉक जोड़े गए हैं और लिस्ट से 5 ब्लॉक हटाए गए हैं। जोड़े गए 3 ब्लॉक में डोलेसारा, जारेकेला और झारपालम-तनगरघाट (छत्तीसगढ़) शामिल हैं। हटाए गए 5 ब्लॉक में मोर्गा साउथ, फतेहपुर, मदनपुर (नॉर्थ), मोर्गा-2 और सायंग (छत्तीसगढ़) शामिल हैं।

एक ब्लॉक को लिस्ट से पहले ही हटा दिया गया था

इससे पहले मंत्रालय ने 41 खदानों की सूची से महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले में स्थित बांदर खदान को हटा दिया था। क्योंकि यह खदान पर्यावरण के लिए संवेदनशील जोन तदोबा अंधारी टाइगर रिजर्व में स्थित है।

मंत्रालय ने लिस्ट में बदलाव का कोई कारण नहीं बताया

मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि नीलामी के लिए ऑफर किए गए खदानों की लिस्ट में संशोधन किया गया है। इसके मुताबिक सीएम(एसपी) एक्ट-2015 के तहत नीलामी 11वें राउंड और एमएमडीआर एक्ट 1957 के तहत नीलामी के पहले राउंड के तहत 38 कोयला खदानों को ऑफर किया गया है। मंत्रालय ने हालांकि लिस्ट में ताजा संशोधन के लिए कोई कारण नहीं बताया।

छत्तीसगढ़ में 7 खदानों की नीलामी होगी

मंत्रालय ने कहा कि एमएमडीआर एक्ट-1957 के तहत नीलामी के पहले राउंड में डोलेसारा, जारेकेला और झारपालम-तनगरघाट कोयला खदानों को जोड़ा गया है। मंत्रालय ने साथ ही कहा कि एमएमडीआर एक्ट-1957 के तहत नीलामी के पहले राउंड में से मोर्गा साउथ कोल माइन को हटाया गया है। साथ ही सीएम(एसपी) एक्ट-2015 के तहत नीलामी 11वें राउंड में से फतेहपुर ईस्ट, मदनपुर (नॉर्थ), मोर्गा-2 और सायंग कोयला खदानों को हटाया गया है। रिवाइज्ड लिस्ट के मुताबिक छत्तीसगढ़ में 7 खदानों की नीलामी होगी।

41 कोयला खदानों की नीलामी की प्रक्रिया 18 जून 2020 को शुरू हुई थी

सरकार ने 41 कोयला खदानों की नीलामी की प्रक्रिया 18 जून 2020 को शुरू की थी। इसका मकसद कोयला सेक्टर को खोलना और देश में कमर्शियल कोल माइनिंग शुरू करना है। 41 खदानों की लिस्ट सीएम(एसपी) एक्ट-2015 के तहत नीलामी 11वें राउंड और माइंस एंड मिनरल्स (डेवलपमेंट एंड रेगुलेशन) एक्ट-1957 के तहत नीलामी के पहले राउंड के तहत जारी की गई थी।

कोल इंडिया का कंसॉलिडेटेड प्रॉफिट 55% घटा, अप्रैल-जून तिमाही में 2,080 करोड़ रुपए का हुआ मुनाफा

0



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply