mythological serial Kahat Hanuman Jai Shri Ram on &TV September 2 onwards


‘कहत हनुमान जय श्रीराम (Kahat Hanuman Jai Shri Ram)’ में होगी रावण की एंट्री

खास बातें

  • एण्ड टीवी के ‘कहत हनुमान जय श्रीराम‘ में दिखेगा रावण का प्रवेश
  • रावण अपनी तुलना भगवान विष्णु से करेगा और खुद को परम शक्ति मानने लगेगा
  • विशाल शोभायात्रा के साथ रावण का भव्य राजभिषेक होगा

नई दिल्ली:

एण्ड टीवी के सीरियल ‘कहत हनुमान जय श्रीराम (Kahat Hanuman Jai Shri Ram)’ के आगामी एपिसोड्स में रावण के प्रवेश के साथ ही एक और अद्भुत कथा की शुरुआत होगी. रावण की भूमिका लोकप्रिय अभिनेता मनीष वाधवा निभा रहे हैं. दस सिर वाले रावण को दशानन के नाम भी जाना जाता है. आने वाले एपिसोड्स में दर्शक देखेंगे कि रावण अपनी तुलना भगवान विष्णु से करेगा और खुद को परम शक्ति मानने लगेगा. जब वह अपने यज्ञ की पूर्णाहुति करके लंका में प्रवेश करते हुए नजर आता है, तो मंदिरों में देवताओं के चेहरे बदलकर उसी की तरह दिखने लग जाते हैं. एक विशाल शोभायात्रा के साथ, रावण का भव्य राजभिषेक होता है, जहां उसे दूध, शहद और फूलों की पंखुड़ियों से नहलाया जाता है. इसके पहले, रावण की मां कैकसी (अलका कौशल) ने एक वानर की छाया और जलती हुई लंका देखी थी, जिसके बाद उसने मारुति के बारे में पता लगाने के लिए राक्षस सुबाहु (प्रदीप काबरा) और मारीच (रोमांच मेहता) को भेजा.

यह भी पढ़ें

रावण की अपनी भूमिका के बारे में बात करते हुए मनीष वाधवा ने कहा, ‘रावण के किरदार को हमेशा एक खास तरीके से व्यवहार करते दिखाया जाता है- वह जोर-जोर से बोलता और हंसता है और अपने आस-पास के लोगों को आतंकित करता है. हालांकि, इस बार दर्शकों को एक बहुत ही शांत और सहज रावण नजर आएगा, जिसमें दानव रूप के साथ ही ज्ञानी ब्राह्मण, संगीतकार, कलाकार और दैत्य सहित उसकी अन्य सारी खूबियां उभरकर सामने आएंगी.’

मनीष ने आगे कहा, ‘ मेरे लिए सबसे बड़ी चुनौती इस अहम किरदार में ठोस चीज लेकर आने की थी, जिसे कई मंझे हुए कलाकारों ने सफलतापूर्वक निभाया है. मेरे लिए जो जरूरी है, वह है अलहदा होने के साथ-साथ उसकी दमदार खूबियों को एक बार फिर से पर्दे पर साकार करना. मैं बेहद उत्साहित हूं और इस बिल्कुल नई भूमिका के जरिए अपनी छाप छोड़ने का बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं.’

रावण की अनसुनी कहानी की एक झलक के साथ दर्शकों को अत्यंत रोचक पौराणिक यात्रा भी देखने को मिलेगी कि बाल हनुमान आखिर कैसे भगवान राम के सबसे बड़े भक्त बनकर उभरते हैं और रावण के आतंक राज का अंत करने में उनके सहायक बनते हैं.



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply