NEET रिजल्ट में भयानक गलती ! कम स्कोर वाला छात्र एसटी कैटगरी में बना टॉपर, एनटीए ने जारी की दूसरी संशोधित मार्कशीट


NEET 2020: नीट रिजल्ट में नेशनलट टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की एक भयानक गलती सामने आई है। एक छात्र जो कि एनटीए की ओर जारी की गई नीट 2020 मार्कशीट फेल हो गया था वह जांच करने पर एसटी कैटेगरी में ऑल इंडिया टॉपर निकला है। पीड़ित छात्र ने जब ओएमआरशीट और आंसर की के आधार पर एनटीए के रिजल्ट (फेल घोषित रिजल्ट) को चुनौती दी तो पता चला कि वह एसटी कैटगरी में ऑल इंडिया टॉपर है।

राजस्थान के सवाई माधोपुर जिले गंगापुर शहर के रहने वाले 17 वर्षीय मृदुल रावत ने के लिए एनटीए की यह गलती किसी भयानक सपने जैसे थी। 16 अक्टूबर को जब एनटीए रिजल्ट जारी किया गया तब एनटीए ने मृदुल को 720 में 329 अंक ही दिए। जबकि हकीकत में मृदुल को आंसर की के हिसाब से 720 में से 650 अंक मिल रहे थे।

मृदुल ने हमारे सहयोगी हिन्दुस्तान टाइम्स को बताया, ‘एनटीए रिजल्ट के अनुसार मैं वर्चुअली नीट 2020 में फेल हो गया था, मुझे किसी भी मेडिकल कॉलेज में इन अंकों से एडिशन नहीं मिलता।’

‘रिजल्ट आने पर मैँ रोने लगा था और तनाव में था। मुझे पूरा भरोसा था कि मैं 650 अंकों के साथ नीट क्रैक करूंगा। लेकिन जब रिजल्ट देखा तो खुद को संभाल नहीं पाया।’

मृदुल ने आगे कहा, ‘मेरे पैरेंट्स ने मेरा हौसला बढ़ाया और जिसके बाद एनटीए के रिजल्ट को ओएमआर रिस्पॉन्स शीट और आंसर की के आधार पर चैलेंज किया। मैंने इसे एनटीए को ट्वीट किया जिसके बाद मेरे रिजल्ट में सुधार किया गया।’

उसने कहा, “जैसे ही एनटीए ने अपनी गलती स्वीकार मेरी संशोधित मार्कशीट जारी तो मेरी निराशा खुशियों में बदल गई। मुझे 720 में 650 अंक मिले जो कि नीट 2020 में एसटी कैटेगरी में ऑल इंडिया टॉपर बना।”

मृदुल के अनुसार उसकी सामान्य वर्ग में ऑल इंडिया रैंक 3577 है।

‘हालांकि एनटीए की ओर से जारी की गई दूसरी मार्कशीट में भी गलती देखने को मिली। इस बार अंकों का जोड़ तो 650 था लेकिन शब्दों में तीन सौ उनत्तीस ही लिखा मिला।’ 

‘जिसके बाद आज मैंने फिर एनटीए से संपर्क किया। इसके बाद एनटीए ने दोबारा से संशोधित मार्कशीट जारी की जिसमें अंकों और शब्दों दोनों में 650 अंक लिख गए।’

मृदुल कोटा में आकाश कोचिंग इंस्टीट्यूट से कोचिंग ले रहा था।

कोटा में आकाश इंस्टीट्यूट के क्षेत्रीय निदेशक अखिलेश दीक्षित ने बताया कि यह एनटीए की बहुत ही भयानक गलती थी जिसे होने से रोका जाना चाहिए था।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply