Sonia Gandhi to hold meeting with RS MPs to discuss current political situation | कांग्रेस अध्यक्ष आज पार्टी के राज्यसभा सांसदों से चर्चा करेंगी, राजस्थान के संकट समेत देश के सियासी हालात पर बात होगी


  • Hindi News
  • National
  • Sonia Gandhi To Hold Meeting With RS MPs To Discuss Current Political Situation

नई दिल्ली22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सोनिया ने 11 जुलाई को पार्टी के लोकसभा सदस्यों से चर्चा की थी। उस मीटिंग में राहुल को फिर से पार्टी अध्यक्ष बनाने की मांग उठी थी। (फाइल फोटो)

  • पार्टी के फुल टाइम प्रेसिडेंट का मुद्दा भी उठ सकता है, सोनिया का कार्यकाल अगले महीने खत्म हो रहा
  • कांग्रेस नेताओं का एक गुट चाहता है कि राहुल अध्यक्ष नहीं बनना चाहें तो उनका दखल भी बंद होना चाहिए

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी आज सुबह 10.30 बजे अपनी पार्टी के राज्यसभा सांसदों के साथ वर्चुअल मीटिंग करेंगी। न्यूज एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक देश की मौजूदा राजनीतिक स्थिति और राजस्थान के सियासी संकट पर चर्चा के लिए ये बैठक बुलाई गई है। इसमें कोरोना और बेरोजगारी की स्थिति पर भी बात होगी।

राज्यसभा के नए सदस्यों के 22 जुलाई को शपथ ग्रहण के बाद यह कांग्रेस सांसदों की पहली बैठक होगी। सोनिया इससे पहले 11 जुलाई को पार्टी के लोकसभा सदस्यों से चर्चा कर चुकी हैं। उस मीटिंग में राहुल गांधी को फिर से पार्टी अध्यक्ष बनाने की मांग उठी थी। पार्टी के नेता गौरव गोगोई और मनिकम टैगोर ने यह प्रस्ताव रखा था। इससे पहले जून में कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी यही मांग उठाई थी।

कांग्रेस नेता फुल टाइम प्रेसिडेंट चाहते हैं
अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर सोनिया गांधी का एक साल का कार्यकाल पूरा होने वाला है। मध्यप्रदेश और राजस्थान में पार्टी के दो हाई-प्रोफाइल नेताओं की बगावत को देखते हुए कांग्रेस के नेताओं का एक गुट चाहता है कि जल्द से जल्द फुल टाइम प्रेसिडेंट की नियुक्ति हो जाए। इसके लिए वे मिलकर कांग्रेस वर्किंग कमेटी को चिट्ठी लिखने का विचार भी कर रहे हैं।

कांग्रेस नेताओं के इस ग्रुप का कहना है कि वे राहुल गांधी के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन फुल टाइम प्रेसिडेंट की नियुक्ति की जाए पार्टी पर कमांड को लेकर स्थिति साफ हो। राहुल गांधी भी अध्यक्ष बन सकते हैं, लेकिन वे ऐसा नहीं चाहते तो फिर उनकी तरफ से कोई दखल नहीं हो। पार्टी के कई नेता राहुल के दखल की वजह से नाराज हैं, क्योंकि जब भी राहुल के ऑफिस के कोई निर्देश आता है तो अक्सर स्थिति साफ नहीं होती।

0



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply