TRP Case: मुंबई पुलिस के समन से Republic TV को नहीं मिली राहत, सुप्रीम कोर्ट बोला- पहले हाईकोर्ट जाइए


टीआरपी घोटाला मामले में मुंबई पुलिस की ओर से जारी समन आदेश के खिलाफ रिपब्लिक टीवी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करने से इनकार कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने रिपब्लिक मीडिया ग्रुप से टीआरपी घोटाला मामले में जारी समन के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट के पास जाने को कहा है। गौरतलब है कि टेलीविजन रेटिंग पॉइंट्स (टीआरपी) हेरफेर रैकेट के सिलसिले में सम्मन जारी किए जाने के बाद रिपब्लिक टीवी ने इस मामले में उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। 

न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली तीन जजों की पीठ ने चैलन सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने से पहले चैनल को बॉम्बे हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाने को कहा है। बता दें कि मुंबई पुलिस आयुक्त परमवीर सिंह ने दावा किया है कि रिपब्लिक टीवी सहित तीन चैनलों ने टीआरपी में हेरफेर किया है। पुलिस ने बताया कि इस रैकेट का खुलासा तब हुआ, जब टीआरपी मापने वाले संगठन बार्क ने हंसा रिसर्च ग्रुप प्राइवेट लिमिटेड के माध्यम से इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई।

जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा कि आपका दफ्तर वर्ली में है। वर्ली से फ्लोरा फाउंटेन (जहां बॉम्बे हाई कोर्ट स्थित है) करीब है। उन्होंने आगे कहा कि हमें अपने उच्च न्यायालयों में विश्वास रखना चाहिए। वहीं, मीडिया हाउस के लिए पेश हुए वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने जारी जांच को लेकर संशय जताते हुए कहा कि हाल के दिनो में आयुक्तों के साक्षात्कार देने का चलन देखा जा रहा है। इस पर न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ ने कहा कि हम इन दिनों प्रेस को साक्षात्कार देने वाले पुलिस आयुक्तों से चिंतित हैं।

बीते दिनों रिपब्लिक टीवी के सीएफओ शिव सुब्रमण्यम सुंदरम को मुंबई पुलिस ने समन जारी किया था, जिसके बाद टीवी चैनल ने राहत  पाने के लिए सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था।   रिपब्लिक टीवी के सीएफओ शिव सुब्रमण्यम सुंदरम ने मुंबई पुलिस से उनका बयान दर्ज नहीं करने का अनुरोध करते हुए कहा था कि सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई एक सप्ताह के भीतर शुरू होनी है। मुंबई पुलिस की अपराध खुफिया इकाई (सीआईयू) ने सुंदरम के खिलाफ शुक्रवार को समन जारी किया था। उन्हें शनिवार को पूर्वाह्न 11 बजे जांच के लिए पेश होने को कहा गया था।

मुंबई अपराध शाखा की अपराध खुफिया इकाई (सीआईयू) फर्जी टीआपी रैकेट की जांच कर रही है। मुंबई पुलिस ने टीआरपी स्कैम का खुलासा किया था, जिसमें तीन टीवी चैनल का नाम सामने आया, जिसमें रिपब्लिक टीवी का भी नाम शामिल है। रिपब्लिक टीवी सुंदरम के अलावा, पुलिस ने मराठी चैनलों `फक्त मराठी और `बॉक्स सिनेमा`के एकाउंटेंट और कुछ विज्ञापन एजेंसियों के लोगों को भी तलब किया था। पुलिस ने इस मामले में बीते गुरुवार को फक्त मराठी और बॉक्स सिनेमा के मालिकों सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया था।



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply