US Presidential Election 2020 Donald Trump | Donald Trump Election Campaign Promises and Their Reality Check Whether the Fulfilled. | ट्रम्प ने कहा- जो वादे करता हूं, वे पूरे भी करता हूं; जानिए 4 साल में उनके 15 बड़े वादों का क्या नतीजा हुआ?


वॉशिंगटन5 मिनट पहलेलेखक: निकोलस क्रिस्टॉफ

  • कॉपी लिंक
  • वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक, ट्रम्प ने 20 हजार से ज्यादा बार झूठ बोला
  • रोजगार, मैक्सिको की सीमा पर दीवार और इमिग्रेंट्स से जुड़े वादे अधूरे रहे

2016 में डोनाल्ड ट्रम्प ने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर 280 वादे किए थे। ट्रम्प दावा करते हैं कि उन्होंने जो वादे किए, उन्हें पूरा भी किया। बतौर उम्मीदवार और राष्ट्रपति बनने के बाद किए गए उनके 15 बड़े वादों का क्या हुआ? आइए जानते हैं….

1. 16 जून 2015: देश की दक्षिणी सीमा पर बहुत बड़ी दीवार बनाऊंगा, इसकी कीमत मैक्सिको चुकाएगा
ट्रम्प ने 3174 किलोमीटर सीमा पर सिर्फ 491 किमी दीवार बनाई। कई जगहों पर पहले से बने बैरियर हैं। कुछ स्पॉट्स ऐसे हैं जहां सिर्फ गाड़ियां रुकती हैं। लोग आसानी से निकल जाते हैं।
एक मील दीवार की लागत 3 करोड़ डॉलर (करीब 219 करोड़ रुपए) है। मैक्सिको ये रकम नहीं देगा। यानी पैसा अमेरिकी टैक्सपेयर्स की जेब से जाएगा।

2. 29 जुलाई 2015: हम उन्हें खोज लेंगे (अवैध इमिग्रेंट्स के लिए), उन्हें बाहर करेंगे
ट्रम्प ने तीन साल में करीब 7 लाख 50 हजार इलीगल इमिग्रेंट्स (अवैध प्रवासी) को उनके देश भेजा। लेकिन, इनमें से ज्यादातर अमेरिका में घुसने की कोशिश कर रहे थे, यहां रह नहीं रहे थे।
उन्होंने कभी भी इन इमिग्रेंट्स को निकालने की कोशिश नहीं की। सिर्फ डर का माहौल बनाया। माइग्रेंट्स को उनके बच्चों से अलग कर दिया गया। इससे माइग्रेंट्स की संख्या में थोड़ी गिरावट आई। ओबामा ने तीन साल में जितने इमीग्रेंट्स को निकाला था, तीन साल में ट्रम्प उतने लोगों को नहीं निकाल सके।

3. 21 जुलाई, 2016: कानून व्यवस्था का पालन कराएंगे, अपराध और हिंसा बहुत जल्द खत्म हो जाएंगे। 20 जनवरी 2017 तक सुरक्षा बहाल हो जाएगी
ट्रम्प ने खुद स्वीकार किया है कि वे कानून-व्यवस्था बनाए रखने में नाकाम रहे। 27 अगस्त 2020 को उन्होंने खुद कहा- सड़कों पर हिंसा और खतरा है।

4. 21 जुलाई, 2016: ओबामा केयर खत्म करेंगे, दूसरी योजना लाएंगे
ट्रम्प ओबामा के हेल्थ केयर प्रोग्राम को खत्म नहीं कर सके। इसे बदलने के लिए कानूनी कार्रवाई कर रहे हैं। ये कभी नहीं बताया कि इसकी जगह कौन सी स्कीम लाएंगे?

5. 16 जून, 2015: सबसे ज्यादा नौकरियां देने वाला राष्ट्रपति बनूंगा
शुरुआत में ओबामा प्रशासन के बराबर ही नौकरियां मिलीं। कोरोना ने इसे भी खत्म कर दिया। ट्रम्प के पद संभालने के बाद से अब तक करीब 50 लाख लोग बेरोजगार हो चुके हैं। यह किसी भी अमेरिकी राष्ट्रपति का सबसे खराब रिकॉर्ड है।

6. 20 मार्च, 2016: जजों की भर्ती करने जा रहा हूं
ट्रम्प ने अमेरिका में कई जजों की तैनाती की है। यह उनकी कामयाबी है। लेकिन, इस काम में उनकी मदद सीनेट के मेजॉरिटी लीडर मिच मैक्कॉनेल ने की है। उन्होंने ओबामा को ये भर्तियां करने से रोक दिया था।

7. 21 जुलाई, 2016: अमेरिकी लोगों का सम्मान सच्चाई के साथ करेंगे, सच्चाई के सिवा कुछ नहीं
वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक ट्रम्प ने अभी तक 20 हजार से ज्यादा बार गलत या भ्रामक बयान दिए हैं।

8. 21 जुलाई, 2016: रोड, हाईवे, ब्रिज, टनल, एयरपोर्ट और भविष्य का रेलवे बनाएंगे
ट्रम्प ने कभी इंफ्रास्ट्रक्टर बिल पास करने की कोशिश भी नहीं की।

9. 31 मार्च, 2016: कर्ज से छुटकारा दिलाएंगे
कर्ज और बढ़ गया है। जल्द ही यह अमेरिका की इकोनॉमी से भी ज्यादा होगा। 1946 से बाद से अब देश पर सबसे ज्यादा कर्ज होने वाला है।

10. 15 अक्टूबर, 2016: व्यापार घाटा खत्म करेंगे
ट्रम्प के कार्यकाल में अमेरिका का व्यापार घाटा ओबामा प्रशासन के दौरान रहे व्यापार घाटा से ज्यादा हो गया है।

11. 21 जुलाई, 2016: आर्मी को फिर मजबूत करेंगे, पूर्व सैनिकों की देखभाल करेंगे
ट्रम्प ने मिलिट्री बजट बढ़ाया। लेकिन, उसका इस्तेमाल मैक्सिको की सीमा पर दीवार बनाने में भी किया। ओबामा के एक प्रोग्राम का भी विस्तार किया, जिससे पूर्व सैनिकों को प्राईवेट हॉस्पिटलों में भी फ्री में इलाज कराने की सुविधा मिली है। लेकिन, हाल ही में ट्रम्प पर मारे गए सैनिकों को पराजित कहने के भी आरोप लगे हैं।

12. 21 जुलाई, 2016: आईएसआईएस को हराने वाले हैं
आईएसआईएस के खिलाफ कार्रवाई ओबामा प्रशासन में शुरू हुई थी। हालांकि, ट्रम्प के समय में आतंकियों का बड़े पैमाने पर सफाया हुआ, लेकिन अब भी आईएसआईएस की गतिविधियां पूरी तरह खत्म नहीं हैं।

13. 3 मई, 2017: इजरायल और फिलिस्तीन में अमन बहाली चाहते हैं
इजरायल और फिलिस्तीन के रिश्ते पहले जैसे ही हैं। हालांकि, अरब देशों जैसे कि यूएई के साथ रिश्तों में नरमी आई है।

14. 16 जून, 2015: कोई भी देश हमारे मामलों में दखल नहीं दे सकेगा
रूस ने 2016 में अमेरिकी चुनावों में दखल दिया और 2020 में फिर से दखल देता दिख रहा है। सीरिया में अमेरिकी सैनिकों को घायल किया। अफगानिस्तान में तालिबानी आतंकियों को अमेरिकी जवानों को मारने के लिए घूस भी दी।

15. 4 फरवरी, 2020: पहले के राष्ट्रपति वादे पूरे नहीं करते थे, मैं इन्हें पूरा करता हूं
ऊपर के वादों के हिसाब से इसका उत्तर ‘न या नहीं’ में है।

अमेरिकी चुनावों से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…

1. अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव:सैनिकों पर ट्रम्प के कथित अपमानजनक बयान को लेकर बवाल, इस बहाने बाइडेन मिलिट्री बैकग्राउंड वाले वोटर्स को लुभाने में जुटे

2. अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव:क्या हो अगर ट्रम्प बैलट वोटिंग से धोखाधड़ी का बहाना बनाकर राष्ट्रपति पद छोड़ने से मना कर दें? कितनी डरावनी होगी इलेक्शन वाली रात और आने वाले दिन

0



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply